जेल में बंद बदमाश की सुरक्षा के लिए पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई गुहार

प्रदेश के टॉप 25 अपराधियों में दर्ज है मेरठ के उधम सिंह का नाम


अपराधियों के परिजनों को भी सताने लगा अपनों के एनकाउंटर डर


मेरठ। कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अपराधियों में प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ की पुलिस का खौफ दिखने लगा है। उत्तर प्रदेश से बदमाशों का सफाया करने के लिए राज्य के डीजीपी और एसटीएफ को आदेश दिए गए हैं। उसके बाद से लगातार एसटीएफ उत्तर प्रदेश में बदमाशों का खात्मा करने में लगी है। इसी का डर अब बदमाशों के परिजनों को भी सताने लगा है। बदमाश भी अब एसटीएफ से बचने के लिए खुद ही सरेंडर कर रहे हैं। वही जेल में बंद कुख्यात बदमाशों के परिजन उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित है और उनकी सुरक्षा को लेकर न्यायालय की शरण ले रहे हैं।


मेरठ के कुख्यात बदमाश उधम सिंह का नाम नाम प्रदेश के टॉप 25 बदमाशों की लिस्ट में दर्ज है। वह इस वक्त आजमगढ़ की जेल में बंद है। उधम सिंह पर कई हत्या और रंगदारी के मुकदमे दर्ज हैं। इसके चलते अलग-अलग जिलों में उसे पेशी पर जाना पड़ता है। लेकिन, अब उधम सिंह के परिजनों को उसके एनकाउंटर का डर सताने लगा है। बता दें कि उधम सिंह की पत्नी पुष्पा सिंह ने अपनी पति की सुरक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर कर सुरक्षा की गुहार लगाई है।