गौड़ सिटी-1 के छठे एवेन्यू से सुरक्षाकर्मियों को हटाने से निवासी नाराज

  बिना किसी सूचना के 13 गार्डों को हटाने से खतरा बढ़ा


बिल्डर और अफसरों से बातचीत के लिए दो सदस्यीय कमेटी बनाई


ग्रेटर नोएडा। गौड़ सिटी-ए स्थित 6एवेन्यू से सुरक्षाकर्मियों को हटाने से सोसायटी के निवासी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। सोसायटी के लोगों ने मंगलवार को बैठक कर इस समस्या से निजात पाने के लिए गंभीर चिंतन किया। निवासियों ने सुरक्षाकर्मियों को हटाने पर बिल्डर के प्रति रोष जाहिर किया। छठे एवेन्यू की निवासी अनिता प्रजापति ने बताया कि सोमवार की दोपहर पता चला कि उनकी सोसायटी से बिना किसी कारण और सूचना के 13 गार्ड को नौकरी से हटा दिया गया है। सोसायटी में पहले दिन और रात मिलाकर कुल 42 गार्ड तैनात थे। उनमें 13 की सेवाएं समाप्त कर दी गईं। उसके बाद सिर्फ 29 सुरक्षाकर्मियों पर ही पूरे सोसायटी की सुरक्षा का भार आ गया है।


उन्होंने बताया कि बसेमेंट, पार्क और स्विमिंग पूल आदि जगहों से गार्डों को हटाया गया है। इसे लेकर रेजिडेंट बहुत चिंतित हैं। उन्होंने बताया कि बसेमेंट में गाड़ियों की पार्किंग है। पहले भी पैट्रोल चोरी की घटनाएं हो चुकी हैं। गार्ड हटा लेने से चोरी का खतरा बढ़ गया है। सोसायटी के निवासी अमित शर्मा ने बताया कि रेसिडेट से मेंटीनेंस चार्ज लिया जाता है, फिर भी सुरक्षाकर्मियों को हटाना उचित नहीं है। इससे लोगों में असुरक्षा की भावना बढ़ेगी। उन्होंने बताया कि कुछ माह पहले एवेन्यू में गोली चलने की घटना हुई थी। बसेमेंट में लगे कैमरे पहले से ही खराब हैं। ऐसे में खतरा बढ़ना स्वाभाविक है। मीटिंग में आम सहमति से दो सदस्यों की कमेटी बनाई गई है। उसमें रंजीत सिंह और आरडी शर्मा को शामिल किया गया है। कमेटी सिक्योरिटी गार्ड को हटाने के मुद्दे पर बिल्डर गौड़ संस और अन्य विभाग के अफसरों से वार्ता कर इस समस्या के समाधान की कोशिश करेंगे। अफसरों को ट्वीट करने की जिम्मेदारी अमित शर्मा और अनिता प्रजापति को दी गई है। अनिता प्रजापति ने बताया कि मेल और ट्वीटर के जरिये सिक्योरिटी गार्ड को तुरंत बहाल कर ड्यूटी पर तैनात करने की मांग की गई है, लेकिन अब तक कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला है। उन्होंने बताया कि पहले ही एवेन्यू मे मेंटीनेंस के नाम पर कुछ काम नहीं हो रहे हैं। लिफ्ट की लाइट, कॉमन एरिया की लाइट महीनों से खराब पड़ी है। अब इस तरह से सुरक्षा कर्मियों को निकाल देना रेजिडेंट की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ है। मीटिंग में एके शाह, रक्षित सिंह, अमित सिंघल, रवि किशोर, गौरव मित्तल, सौरभ सिंह, आशुतोष, वरुण, राम रिख शर्मा और अमित मान आदि मौजूद रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन