बऊआ दुबे ने सीओ देवेंद्र मिश्रा को उतारा था मौत के घाट : आकाश तोमर

बेहद कू्रर था मारा गया बऊआ दुबे : एसएसपी


इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सिविल लाइन इलाके में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया प्रवीन दुबे उर्फ बऊआ की क्रूरता की कहानियां किसी से छिपी नही है। कानपुर पुलिस हत्याकांड में पुलिस उपाधीक्षक देवेंद्र मिश्रा को क्रूरता को ढंग से मौत के घाट उतारने वाला बऊआ दुबे ही था। 


इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने क्रूरता के किस्सों को बयान करते हुए गुरुवार को बताया कि प्रवीन उर्फ बऊआ दुबे खूंखार विकास दुबे के घर के पास में ही बिकरु गांव में रहता था। कानपुर पुलिस हत्याकांड में इसी ने सबसे ज्यादा गोलियां चलाई थी। इसके पास से बरामद डबल बैरल गन कानपुर के खूनी कांड में इस्तेमाल की गई थी, जो रामू उर्फ रविंद्र कुमार के नाम से दर्ज है।


आकाश तोमर ने बताया कि बऊआ दुबे ने ही सीओ देवेंद्र मिश्रा का पैर काटने की वारदात को अंजाम दिया था। इस मुठभेड़ के बाद कानपुर जोन के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने दोपहर मुठभेड़ स्थल का दौरा किया। 
पुलिस पार्टी ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए बदमाशों के करीब जाकर पकड़ने का प्रयास किया गया, जिसमें एक गोली एसओजी प्रभारी सतेन्द्र सिंह को लगी, बुलेट प्रूफ जैकेट पहने होने से वे बाल बाल बच गए। 


एसएसपी ने बताया कि बदमाश से हुई मुठभेड में शामिल पुलिस टीम का पुलिस महानिरीक्षक ने 50 हजार रुपये के इनाम के अलावा 50 हजार अतिरिक्त राशि से पुरस्कृत किया है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन