यूपी में अव्वल गौतमबुद्ध नगर, 127 नए लोगों में कोविड-19 की पुष्टि, 97 डिस्चार्ज

 जिले में अब तक 2073 मरीज, 21 की मौत, 1136 ने जीती जंग, 915 अभी अस्पताल में

 

नोएडा। उत्तर प्रदेश का आईना कहे जाने वाले गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना संक्रमण के नित नए रिकार्ड बन रहे हैं। जिलें में लगातार तीसरे दिन 100 से अधिक संक्रमितों के मिलने से प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं। शनिवार को 127 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 2073 हो गई है। हालांकि 97 लोगों के स्वस्थ होने की खबर कुछ हद तक राहत देने वाली है। जिले में अब तक 1136 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं। शनिवार को एक व्यक्ति की  मौत के साथ ही जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 21 पहुंच गई है। फिलहाल 915 मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। 

 

प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार की शाम जारी आंकड़े के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान गौतमबुद्ध नगर में 127 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि है। विभाग ने शनिवार को कोविड-19 के संक्रमण से एक व्यक्ति की मौत की पुष्टि की है। इसके साथ ही जिले में संक्रमण का शिकार होने वालों की संख्या 21 हो गई है। जिले के प्रशासन के लिए यह राहत भी खबर हो सकती है कि एक ही दिन में 97 लोग कोरोना को शिकस्त देकर अपने घर चले गए। इसके साथ ही जिले में स्वास्थ होने वाले लोगों की संख्या 1136 हो गई है। जबकि 915 लोगों का इलाज अभी नोएडा और ग्रेटर नोएडा के विभिन्न कोविड अस्पतालों में किया जा रहा है। 

 

गौरतलब है कि प्रदेश के शो-विंडो कहे जाने वाले नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन की ओर से कड़े कदम उठाने का दावा किया जाता रहा है। प्रशासन की सख्ती दिल्ली बार्डर पर कुछ हद तक दिखाई देती है। लेकिन, शहर के गांवों और उसमें लगने वाले बाजारों में लोग बेखौफ घूमते रहते हैं। वे प्रशासन की सख्ती और संक्रमण के खतरे से भी बेपरवाह रहते हैं। इसके बावजूद पुलिस और प्रशासन मौन है। यहां इस बात का उल्लेख जरूरी है कि पुलिस और प्रशासन की नरमी का ही परिणाम है कि जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। बुधवार को जिले में रिकार्ड 146 मरीज मिले थे। जबकि शुक्रवार को 136 और शनिवार को 127 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन