समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता श्रुतिकांत शर्मा को सदस्यों ने दी विनम्र श्रद्धांजलि

सच्चे समाजवादी, अभिभावक और मार्गदर्शक थे श्रुतिकांत शर्मा : देवेंद्र अवाना


 श्रुतिकांत शर्मा का असमय जाना पार्टी और उनकी व्यक्तिगत क्षति : हीरालाल यादव


नोएडा। सच्चे देशभक्त और समाजवादी नेता श्रुतिकांत शर्मा को समाजवादी मजदूर सभा के सदस्यों ने सोमवार को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। सदस्यों ने देश, समाज और पार्टी के प्रति उनकी निष्ठा और समर्पण को याद किया। 


सेक्टर-11 झुंडपुरा स्थित कार्यालय पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में वरिष्ठ नेता मजदूर सभा के प्रदेश महासचिव देवेंद्र सिंह अवाना ने कहा कि श्रुतिकांत शर्मा लगभग ढाई दशक से समाजवादी पार्टी में सक्रिय रहे। इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण पदों का पूरी जिम्मेदारी से निर्वहन किया। उनकी सक्रियता और पार्टी के प्रति उनके समर्पण के लिए पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय उनका बहुत सम्मान करते थे। उन्होंने कहा कि श्रुतिकांत शर्मा उनके लिए सिर्फ पार्टी से जुड़े एक साथी नहीं थे, वह अभिभावक और मार्गदर्शक भी रहे। 


मजदूर सभा के प्रदेश सचिव हीरालाल यादव ने कहा कि श्रुतिकान्त शर्मा सच्चे समाजवादी थे। उनके आकमिक निधन से पार्टी को अपूर्णीय क्षति हुई है। पार्टी के साथ ही समाज और देश के प्रति उनकी चिंता उनके सच्चे देशभक्त और समाजवादी होने का सबूत था। वह बेहद जिंदादिल इंसान थे। उनकी निष्ठा को देखते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उन्हें सम्मानित किया था। उनका असमय जाना उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। 


समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता राघवेंद्र दुबे ने कहा कि श्रुतिकान्त शर्मा बेहद मिलनसार एवं मृदुभाषी थे। उनका आकस्मिक निधन बेहद कष्टकारी है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। 


गौरतलब है कि श्रुतिकांत शर्मा ने वायुसेना से रिटायर होने के बाद से ही समाजवादी पार्टी में सक्रिय हो गए थे। 19 जून को 70 वर्ष की आयु में उनका सेक्टर 56 स्थित आवास में आकस्मिक निधन हो गया था। उनके परिवार में पत्नी और दो बेटियां हैं। 


श्रुतिकान्त शर्मा के निधन से दुखी पार्टी सदस्यों ने उनके चित्र पर पुष्प अर्पित किया और दो मिनट का मौन रखकर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर
वरिष्ठ नेता नरेंद्र शर्मा, भरत प्रधान, भीष्म यादव, महेंद्र यादव, विकास यादव, सन्नी गुर्जर, दीपक चावला, नरेंद्र तंवर, विक्की तंवर और गजेंद्र यादव मौजूद रहे।


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन