प्रत्येक बैंक खाता धारक के सवा रुपए से दी जाए अमर जवान को श्रद्धांजलि

  नई दिल्ली : यदि प्रत्येक भारतीय मात्र सवा रुपया अपने वीर बलिदानी सैनिक के खाते में ट्रांसफ़र करने की स्वीकृति अपने बैंक को दे और बैंक सम्पूर्ण देश से ऑटोमेटिक तरीके से एकत्र इस राशि को सीधे भारत माता के उस वीर सपूत के खाते में कुछ ही घंटों में जमा कर दे तो आपको कैसा लगेगा ! जी हाँ! यह सिर्फ एक विचार नहीं बल्कि सच्ची श्रद्धांजलि है उस लाल को जिसने हम सब की सुरक्षार्थ सर्वोच्च बलिदान दिया. विश्व हिन्दू परिषद् के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने इस आशय का एक पत्र प्रधान मंत्री मोदी को भेज भी दिया है. इस पत्र में उन्होंने कहा है कि जब भी कोई सैनिक बलिदान हो, भारत के प्रत्येक नागरिक के बैंक खाते से, उसकी एक बार की स्थाई स्वीकृति के आधार पर, स्वत: ही सवा रुपया काट कर, बलिदानी सैनिक के खाते में यदि सीधा जमा कर दिया जाए तो उस अमर हुतात्मा को देश का प्रत्येक व्यक्ति अपनी सार्थक व सच्ची श्रद्धांजलि दे सकेगा.


       श्री बंसल ने कहा है कि हमारे वीर जवान जब देश के लिए बलिदान होते हैं तो एक नागरिक के नाते गहरा दुःख व वेदना होती है. किन्तु मन के भाव तथा अमर हुतात्मा के परिजनों के प्रति सम्वेदना प्रकट करने के अतिरिक्त हम कुछ भी नहीं कर पाते हैं. एक बार की स्वीकृति के आधार पर, हमेशा के लिए जब भी कोई वीर सैनिक वीर गति को प्राप्त करे, बिना बार-बार पूछे, हमारे खाते से सवा रुपया डेबिट कर सैनिक के खाते में क्रेडिट कर दिया जाए. इससे प्रत्येक नागरिक सीधे रूप से उस महान बलिदानी परिवार के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त कर सकेगा. साथ ही, सम्पूर्ण देश से एक साथ संचित इस समर्पित पवित्र धन से वीर सैनिक के परिजनों की पीड़ा में देशवासी भी सहभागी बन सकेंगे.


       विहिप प्रवक्ता ने भारत के प्रधानमंत्री को भेजे इस पत्र में उनसे निवेदन किया है कि सभी बैंकों को भारतीय रिजर्व बैंक के माध्यम से इस सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश अविलम्ब दिए जाएँ जिससे देश का जन सामान्य सैनिकों के प्रति अपने मन की भावनाओं के ज्वर को किसी तरह शांत कर सके. कल रात्रि ईमेल से भेजे इस पत्र की प्रति देश के रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह तथा वित्तमंत्री श्रीमति निर्मला सीता रमण को भी भेजी है.