नोएडा के विकास को लगेंगे पंख, 995 करोड़ 67 लाख का बजट तय

मौजूदा वित्तीय वर्ष में 274 विकास कार्यों को प्राथमिकता


नोएडा। शहर के विकास को अब पंख लगने ही वाले हैं। प्राधिकरण ने इसकी पूरी तैयारी कर ली है। करोना वायरस के कारण किए गए लॉकडाउन में नोएडा शहर का विकास कार्य पूरी तरह से ठप हो गया था। वित्तीय वर्ष 2020-21 का बजट भी नहीं पास हो पाया था। हर साल अप्रैल के महीने में होने वाली बोर्ड बैठक में बजट पास किया जाता है। अब जबकि अनलॉक-वन चल रहा है, ऐसे में शहर के विकास कार्यों को गति देने के लिए नोएडा प्राधिकरण ने 995 करोड़ 67 लाख का बजट तय किया किया है। इससे चालू वित्तीय वर्ष में प्राथमिकता के तौर पर 274 विकास कार्य कराए जाएंगे। इसमें 372 करोड़ की लागत वाले 207 विकास कार्यों के लिए टेंडर जारी कर दिए गए हैं।  


शहर के विकास कार्यों का जिम्मा नोएडा प्राधिकरण के पास है। विकास कार्यों समेत अन्य कामकाज के लिए हर साल अप्रैल में आयोजित बोर्ड बैठक में बजट पर मुहर लगाई जाती है। लेकिन, इस वर्ष मार्च के दूसरे सप्ताह से कोरोना का प्रकोप शुरू हो गया था। इस कारण करीब दो महीने तक कामकाज बिल्कुल ठप रहा। लॉकडाउन की वजह से बोर्ड बैठक भी नहीं हो पाई। अब अनलॉक-वन के शुरू होने के साथ प्राधिकरण ने शहर के विकास को रफ्तार देने की शुरुआत कर दी है। नोएडा ने विकास कार्यों के लिए 995 करोड़ 67 लाख का बजट तय किया है। इससे वित्तीय वर्ष 2020-21 में 274 विकास कार्य कराए जाएंगे। इसमें से 372 करोड़ की लागत वाले 207 विकास कार्यों के लिए टेंडर जारी कर दिए गए हैं।  


नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु माहेश्वरी ने बताया कि अब तक 40 नए काम के लिए टेंडर जारी किए जा चुके हैं। इन पर 97 करोड़ 54 लाख रुपये का खर्च आएगा। इसके अलावा रख-रखाव व मरम्मत से संबंधित 167 काम के लिए भी टेंडर जारी किए जा चुके हैं। इन पर करीब 274 करोड़ 93 लाख रुपये का खर्च आएगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा कई ऐसे काम प्रस्तावित हैं, जिनका एस्टीमेट बनाया जा रहा है। इनमें 14 नए काम पर 575 करोड़ 44 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। इनमें अंडरपास और एलिवेटेड रोड जैसी कई बड़ी परियोजनाएं शामिल हैं।