कोरोना काल में विश्व में योग एक महत्वपूर्ण एवं विश्वसनीय सुरक्षा कवच बनकर उभरा : केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे

अन्तराष्ट्रीय योग दिवस की पूर्व संध्या पर पेफी ने किया स्वास्थ के लिए योग, खेल एवं शारीरिक शिक्षा विषय पर वेबीनार


देशभर से शारीरिक शिक्षक, खेल विशेषज्ञ, योगाचार्य एवं खिलाड़ियों ने की शिरकत


नई दिल्ली 


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री  अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के बीच पूरी दुनिया में योग एक विश्वसनीय एवं महत्वपूर्ण सुरक्षा कवच बनकर उभरा है। यूं तो योग को लेकर 6 सालों में विश्व में लोगों की दिलचस्पी काफी बढ़ी है। मौजूदा समय में रोग प्रतिरोधक क्षमता  एवं आत्मबल को बढ़ाने के लिए  बड़ी संख्या में  नियमित रूप से  दुनिया भर में लोग योग की शरण में आ रहे हैं। यह एक विश्वसनीय साथी बना है।


छठे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को लेकर लोगों में उत्साह है। इस बार का थीम घर पर योग परिवार के साथ योग रखा गया है।


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौबे फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर स्वास्थ्य के लिए योग खेल एवं शारीरिक शिक्षा विषय पर आयोजित वेबीनार को मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने सभी को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं दी। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि भारत की सभ्यता एवं संस्कृति में योग का विशेष स्थान है। योग सदियों से सकारात्मक एवं स्वस्थ जीवन जीने को प्रेरित करता आ रहा है। सभी इसे अपने जीवन में उतारे इसके लिए निरंतर प्रयास करते रहने की आवश्यकता है।


आत्मबल एवं ऊर्जा को बढ़ाता है


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि नियमित योग करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। आत्म बल एवं ऊर्जा का संचार मन मस्तिष्क में होता है। अभी जो कोरोना का समय चल रहा है। सभी से अपील करता हूं कि वह अपने दैनिक जीवन में योग को शामिल करें। सभी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए योग दिवस के दिन योग घर पर जरूर करें। अपने परिवार के सदस्यों को भी योग करने के लिए प्रेरित करें। इस दिन संकल्प भी लें कि नियमित योग करेंगे। इसे दैनिक जीवन में शामिल करेंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री चौबे ने कहा कि इसमें पेफी की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है। उन्होंने शारीरिक शिक्षकों, योग एवं खेल प्रशिक्षकों से आह्वान किया कि वे योग क्रांति के लिए गांव में अभियान चलाएं। नियमित रूप से योग से लोग जुड़े रहे, इसका प्रयास करें।


पेफी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल कोठारी ने योग की महत्वता और वर्तमान समय में पेफी के कार्यकर्ताओं द्वारा योग को बढाने के लिए किये जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला.


फाउंडेशन के कार्यकारी अध्यक्ष  डॉक्टर ए के उप्पल, सचिव डॉ पीयूष जैन, नेहरू युवा केंद्र के पूर्व डीजी मेजर जनरल दिलावर सिंह, एशियन मैराथन चैंपियन डॉक्टर सुनीता गोदारा ने वेबीनार को संबंधित किया।


इस अवसर पर पेफी के सदस्य डॉ. चंद्रशेखर सिंह तोमर, डॉ. शरद कुमार शर्मा. डॉ. चेतन कुमार, पंकज मिश्रा, परविंद कुमार, उमा शंकर अखारिया, तरुण शर्मा आदि उपस्थित थे.


मंच संचालन डॉ. अमृता पांडे ने किया.


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन