दिल्ली ने खोली अपनी सीमाएं, लेकिन नोएडा में बिना पास प्रवेश नहीं 

 डीएनडी समेत नोएडा-दिल्ली की सीमाओं पर लगा लंबा जाम


नोएडा। दिल्ली सरकार ने दूसरे राज्यों से लगी अपनी सीमाएं तो खोल दीं, लेकिन नोएडा में बिना पास के प्रवेश नहीं मिलने पर राजधानी दिल्ली से लगी सभी सीमाओं पर लंबा जाम लग गया। बार्डर पर तैनात पुलिसकर्मी बिना पास के किसी भी वाहन को नोएडा में प्रवेश की इजाजत नहीं दी। इसे लेकर पुलिसवालों से कहासुनी भी हुई।  


प्रदेश सरकार ने केंद्र की गाइड लाइन के मुताबिक सोमवार से अनलॉक-दो की शुरुआत कर दी। इसके तहत मॉल, होटल और रेस्टोरेंट खोल दिए गए। तमाम सरकारी और गैर-सरकारी दफ्तर और कल-कारखाने पहले से ही खुले हुए हैं। लॉकडाउन में ढील के बाद लोग अपने काम पर जाने के लिए घरों से निकले। लोगों को नोएडा से दिल्ली जाने में कोई परेशानी नहीं हुई। क्योंकि दिल्ली सरकार ने यूपी और हरियाणा से लगी अपनी सभी सीमाएं खोली दीं। लेकिन, नोएडा प्रशासन ने दिल्ली से आने वाले वाहनों को शहर में प्रवेश की मंजूरी नहीं दी। सिर्फ पास वाले वाहन को ही आने की अनुमति दी गई। इससे डीएनडी समेत दिल्ली से लगी सभी सीमाओं पर लंबा जाम लग गया। 


डीएनडी पर तैनात पुलिसकर्मी वीआईपी की गाड़ी के आते देख रास्ता खाली कराने के लिए दौड़ पड़ते थे, लेकिन बाइक सवार लोगों के पास भी मानने से पुलिस वाले इंकार कर उन्हें वापस करते रहे। दिल्ली सरकार के बार्डर खोलने के फैसले के बाद लोगों को उम्मीद थी कि नोएडा की ओर से भी सीमाएं खोल दी जाएंगी। लेकिन, जिला प्रशासन ने इस पर कोई फैसला नहीं लिया। 


कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट पर जिला प्रशासन ने 21 अप्रैल को नोएडा के सभी बार्डर को सील कर दिया था। उसके बाद से अब तक खोला नहीं गया है। यही कारण है कि वाहनों को बिना अनुमति के प्रवेश नहीं दिया जा रहा है, जिससे डीएनडी समेत दिल्ली से लगी सभी सीमाओं पर वाहनों का जमावड़ा लगा रहता है। इसे लेकर पुलिस के साथ नोक-झोंक भी चल रही है।


डीसीपी जोन प्रथम संकल्प शर्मा ने बताया कि बॉर्डर को खोलने के संबंध अभी तक कोई आदेश नहीं मिला है। जब तक कोई नया आदेश जारी नहीं होगा, तब तक यथास्थिति रहेगी। सिर्फ पासधारकों को ही नोएडा में प्रवेश दिया जाएगा। सोमवार को बॉर्डर पर लगी भारी भीड़ के मद्देनजर अतिरक्त फोर्स की व्यवस्था की जा रही है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन