बागपत में बीजेपी नेता के बेटे की हत्या के बाद भीड़ ने दो हमलावरों को मार डाला

गेहूं पिसवाने को लेकर रविवार को शुरू हुआ था विवाद

बागपत। देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह के गृह जनपद यूपी के बागपत जिले में गेहूं पिसवाने को लेकर हुए विवाद में 14 साल के किशोर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हमलावरों ने उसके साथ आए दूसरे बालकों और एक पड़ोसी को अधमरा कर दिया। बताया जाता है कि मृतक किशोर भाजपा नेता का बेटा था। घटना से उत्तेजित लोगों ने मौके से भाग रहे दो आरोपियों को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। गांव में तनाव को देखते हुए भारी पुलिसबल को तैनात किया गया है। मौके पर पहुंचे आईजी प्रवीण कुमार ने बदमाशों को शीघ्र गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक यूपी के बागपत जिले में भाजपा सांसद डा. सत्यपाल सिंह के पैतृक गांव बासौली में प्रकाश की आटा चक्की है। वहां गेहूं पिसवाने को लेकर रविवार को गांव के राजबीर से विवाद हो गया। राजबीर पक्ष के लोगों ने प्रकाश के साथ मारपीट कर दी। इस मामले में उसने चार लोगों के खिलाफ रमाला थाने में तहरीर दी थी। सोमवार की शाम राजबीर पक्ष के करीब दो दर्जन लोगों ने प्रकाश की आटा चक्की पर हमला बोल दिया। उसमें प्रकाश के बेटे पुनीत, सुमित व पड़ोसी श्योरण को हमलावरों ने मारपीट कर अधमरा कर दिया। जबकि प्रकाश के भतीजे 14 वर्षीय शेखर की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या कर भाग रहे आरोपियों को गुस्साए गांव वालों ने घेर लिया और दो को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया।

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे एसपी प्रताप गोपेन्द्र यादव ने घटना की जानकारी ली। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक बदमाशों में एक बावली व दूसरा सूप गांव का रहने वाला बताया जा रहा है। एसपी प्रताप गोपेन्द्र यादव ने बताया कि आपसी रंजिश में पूरी घटना हुई है। मामले की जांच की जा रही है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।