श्रमिक स्पेशल ट्रेन में नई दिल्ली से पश्चिम बंगाल जा रही मजदूर महिला की संदिग्ध हालात में मौत
इटावा में शव को उतार कर लिया कोरोना सैंपल 

 

इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में श्रमिक स्पेशल ट्रेन में नई दिल्ली से पश्चिम बंगाल जा रही प्रवासी मजदूर महिला की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। ट्रेन के इटावा पहुंचने पर महिला का शव उतार कर उसका कोरोना सैंपल लिया गया। महिला के दामाद ने आरोप लगाया है कि रेलगाड़ी में हालात बिगड़ने के बाद उसने हेल्प के लिए कॉल किया, लेकिन उसको डेढ़ घंटे बाद हेल्प तब मिली, जब सास की मौत हो गई।

 

इटावा के मुख्य विकास अधिकारी राजा गणपति आर. ने गुरुवार के बताया कि बुधवार की रात इटावा रेलवे स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन से रात करीब सवा दस बजे प्रवासी मजदूर 51 साल की महिला किपा सेरपा का शव उतारा गया। महिला की मौत के बाद इस बात का अंदाजा लगाया गया कि वह कोरोना से संक्रमित हो सकती है। उसके बाद महिला के शव को राजकीय रेलवे पुलिस के जवानों ने पीपीई किट पहनकर डी-5 कोच से उतारा और परीक्षण के लिए भेज दिया। 

 

इससे पहले महिला की तबीयत बिगड़ने की खबर मिलने के बाद स्टेशन पर रेलवे चिकित्सक डा. वीपी पाठक, सिविल चिकित्सक डा. धर्मेंद्र और डा. लोकेश ने शुरुआती जांच के बाद अनुमान लगाया कि महिला की मौत करीब दो घंटे पहले हो चुकी थी। शव को कोच से उतारने के बाद ट्रेन रवाना हुई। इस दौरान गाड़ी लगभग सवा घंटे तक खड़ी रही। 

 

पोस्टमार्टम हाउस पर महिला के दामाद रंजीत तामू ने बताया कि उनकी सास की तबीयत रेलगाड़ी में खराब हुई। उन्होंने हेल्प के लिए रेल विभाग को कॉल किया। इटावा रेलवे स्टेशन पर उसे हेल्प मिली, लेकिन तब तक सास की मौत हो गई थी। उनका कहना है कि उनकी सास की तबीयत अलीगढ़ के आसपास खराब हुई थी। वो गिर पड़ीं। उसके बाद लगातार उनकी तबीयत बिगड़ती चली गई। 

 

उन्होंने बताया कि एक साल से उनकी सास नई दिल्ली में घरों में काम करके अपना और परिवार का गुजारा कर रही थीं, लेकिन लॉकडाउन के कारण कोई दूसरा काम न होन के कारण अपने अपने घरों को लौट रही थी। उन्होंने बताया कि श्रमिक स्पेशल रेलगाड़ी से वो खुद, उनकी सास, उनकी दो बेटियां सांग डोलमा शेरपा, दीकला शेरपा, नाती रियान तामू के साथ पश्चिम बंगाल के कलिंगपांग जिला दार्जलिंग जा रहे हैं। 

 

इटावा के सीएमओ एनएस तोमर ने बताया कि रेलगाड़ी में सफर कर रही श्रमिक महिला की मौत सामान्य लग रही है। इसके बावजूद कोरेाना का सैंपल लिया गया है। जिला प्रशासन ने दोपहर करीब एक बजे पोस्टमार्टम के बाद कोरोना गाइड लाइन के अनुसार शव को अंतिम संस्कार के लिए एंबुलेंस के माध्यम से रवाना किया गया।