लॉक डाउन के कारण देश का रीटेल व्यापार को 5.50 लाख करोड़  के व्यापार का नुक़सान - कैट





New Delhi


कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट ) ने  कहा कि जब से 24 मार्च को देश में लॉकडाउन लागू किया गया था तब से लेकर 30 अप्रैल तक भारतीय खुदरा व्यापार में लगभग 5.50 लाख करोड़ रुपये का व्यापार नहीं हुआ और व्यापार न होने से कम से कम 20% व्यापारियों और उन व्यापारियों पर निर्भर लगभग 10 अन्य व्यापारियों द्वारा अपना व्यापार बंद करने की संभावना है । लॉक डाउन ने भारतीय खुदरा विक्रेताओं  के अगले कुछ महीनों के  कारोबार को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया और उसी के कारण कैट ने आज प्रधान मंत्री  नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री  निर्मला सीथारमन से आग्रह किया है की सरकार देश के  व्यापारिक समुदाय को संभालने और व्यापारियों को उनके अस्तित्व को सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त पैकेज दे जिससे देश के व्यापार को इस कठिन समय से उबारा जा सके ।


कैट  के राष्ट्रीय अध्यक्ष  बी.सी.भारतिया और राष्ट्रीय महामंत्री   प्रवीन  खंडेलवाल ने कहा कि करोना ने भारतीय खुदरा व्यापार में बहुत बड़ी अपूरणीय सेंध लगाई है जिसका पूरे देश देश की अर्थव्यवस्था पर विनाशकारी प्रभाव पड़ेगा।