इटावा मेें 7 कोरोना संक्रमितों के मिलने से मचा हड़कंप

 

 

24 तक पहुंचा मरीजों का आंकड़ा

 

इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में शुक्रवार को एक साथ 07 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। इसके साथ ही जिले में संक्रमितों की तादाद बढ़कर 24 हो गई है। 

 

इटावा के जिलाधिकारी जितेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण के मामले के बढ़ने के साथ ही बेहद सतर्क हो गया है। सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी से आई रिपोर्ट के अनुसार इटावा तहसील में 5 और भर्थना तहसील में 2 कोरोना संक्रमित पाये गए हैं। इस प्रकार अब इटावा में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर के 24 हो गई है।

उन्होंने बताया कि 18 व 19 मई को जांच के लिए सैंपल भेजे गए थे। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में 07 लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से हड़कंप मच गया। 

 

इटावा शहर में साबितगंज, छिपेटी, मेहतर टोला आदि में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग तत्काल मौके पर पहुंचा। एसडीएम सदर सिद्धार्थ, सीओ सिटी वैभव पांडेय, ईओ अनिल कुमार, सफाई इंस्पेक्टर सुरेंद्र कुमार सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी साबितगंज पहुंचे और पूरे परिवार के लोगों को क्वारंटाइन कर दिया। उसक बाद इलाके को सेनिटाइज कराया गया। नया शहर चौकी इंचार्ज जितेंद्र सिंह ने पुलिस के साथ पहुंचकर संमित पाए गए व्यक्ति के घर सहित आसपास के इलाके को सील कर दिया। 

 

इटावा शहर के डा. सत्य नारायण गुप्त नर्सिंग होम के टैक्नीशियन प्रदीप कुमार के कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद साबितगंज को सील किया गया है। यहां के एक मरीज के गुरुग्राम में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद हुई पड़ताल के बाद टेक्नीशियन कोरोना संक्रमित निकला है। छिपैटी के विवेक सिंह 19 मई को भोपाल से लौटकर आये थे। उनकी जांच कराई गई, जिसमें वह पॉजिटिव पाए गए। 16 मई को अहमदाबाद से आये ब्रजेश कुमार और सुंदर लाल कोरोना संक्रमित पाये गये हैं। जहां-जहां पर कोरोना संक्रमित पाये गये हैं, उन इलाकों को सील करने के साथ साथ सेनिटाइज किया जा रहा है। इससे पहले 19 मई को एक साथ 13 कोरोना संक्रमित सामने आए थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव