चिकित्सा विशेषज्ञों की सलाह पर अमल करने लगे नोएडा वेस्ट के निवासी

 

कोरोना से खुद को बचाने के लिए लगवाया सेनिटाइजर पैडल स्टैंड

 

ग्रेटर नोएडा। देश के लोगों को अब कोरोना के साथ जीना सीखना होगा। चिकित्सा विशेषज्ञों और सरकारों की इस बात पर ग्रेटर नोएडा वेस्ट के लोगों ने इस पर अमल करना शुरू कर दिया है। गौड़ सिटी-एक के एवेन्यू-6 के निवासियों ने कोरोना वायरस के संक्रमण से खुद को सुरक्षित रखने के लिए सोसायटी में सेनिटाइजर यूज करने के लिए पैडल स्टैंड लगवाया है। इससे किसी को भी सेनिटाइजर के इस्तेमाल के लिए बोतल छूने की जरूरत नहीं होगी। 

 

एवेन्यू-6 की रेजिडेंट अनिता प्रजापति ने बताया कि पहले भी उनकी सोसायटी में निवासियों ने हैंड सेनिटाइजर और हैण्ड वॉश लॉबी में उप्लब्ध कराया है। उन्होंने बताया कि एवेन्यू में 8 टॉवर हैं। उन सभी में रहने वाले निवासी इस तरह के स्टैंड लगवा रहे हैं। इसस्टैंड का मूल्य 1000 रुपये है। 

पहले सेनिटाइजर की बॉटल लॉबी गार्ड के पास रहती थी और उसे हर आने वाले वेंडर को सेनिटाइजर के इस्तेमाल के लिये बोलना पड़ता था। अब स्टैंड लगने से उसका काम असान हो गया है। 

 

सोसायटी के एक दूसरे निवासी अमरजीत राठौर ने बताया कि पैडेल को समय समय पर साफ करने के लिये हाउस कीपिंग स्टाफ को कहा गया है। सेनिटाइजर की उपलब्धता के लिये मेंटिनेंस विभाग को बता दिया गया है।

अमित मान ने बताया कि उनके टॉवर में सेनिटाइजर स्टैंड लॉबी और बेसमेंट लिफ्ट के पास  लगाये गए हैं, जिससे हर कोई अपने हाथ सेनिटाइज करके ही लिफ्ट का यूज करे।

 

अमित शर्मा ने बताया कि कोरोना जैसी महामारी और लॉकडाउन में बढ़ती ढील को देखते हुए खुद को बचाने के लिये मेंटिनेंस के साथ निवासियों को भी खुद सोचना होगा। उन्होंने बताया कि भविष्य में भी सोसाइटी निवासियों के हित के लिये ऐसे कार्य किये जाते रहेंगे। 

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन