वैज्ञानिकों ने मिस्ट सैनिटाइजर टनल को बताया सुरक्षित

 


सैनिटाइजर टनल में एक व्यक्ति को संक्रमण मुक्त करने  में औसतन आठ सेंकेंड का समय लगता है


New Delhi 


कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए अग्रिम पंक्ति में तैनात स्वास्थ्यकर्मियों, डॉक्टरों, पुलिसऔरअन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए कुछ स्थानों पर मिस्टसैनिटाइजर टनल का उपयोग हो रहा है।लेकिन, इस टनल में छिड़काव के लिए उपयोग होनेवाले रसायन सोडियम हाइपोक्लोराइट के दुष्प्रभावों का हवाला देते हुए कई एजेंसियों ने इसके खिलाफ दिशा-निर्देश जारी किए हैं।हालाँकि, अब वैज्ञानिक परीक्षण के बाद मिस्टसैनिटाइजर टनल केउपयोग को सुरक्षित बताया जा रहा है।काउंसिलऑफसाइंटिफिकऐंडइंडस्ट्रियलरिसर्च (सीएसआईआर) की पुणे स्थित प्रयोगशाला नेशनलकेमिकललैबोरेटरी (एनसीएल) के एक ताजा अध्ययन के बाद इस संस्थान के वैज्ञानिकों ने यह बात कही है।