पटियाला हाउस कोर्ट पर मुकेश और पवन की मां रोते हुए बेहोश हो गयी

दिल्ली


-       दारा सेना सहित 2 दर्जन संगठनों ने राष्ट्रपति को ज्ञापन देकर फांसी न देने की मांग की।


-       दारा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुकेश जैन के नेतृत्व में बिहारी भाई सुरक्षा समितिक्षत्रिय समाज न्यास,राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टी,भारतीय सम्पूर्ण क्रांतिकारी पार्टीखटिक चर्मकार बाल्मिकी धर्मरक्षक सेना और विनय शर्मा,पवन गुप्ताअक्षय ठाकुर और मुकेश सिंह के परिजनों और से इनको फांसी की सजा दिये जाने के खिलाफ पटियालाहाउस कोर्ट के बाहर विशाल प्रदर्शन किया।


-       इस धरना प्रदर्शन में शामिल फांसी की सजा प्राप्त पवन गुप्ता के माता-पिता श्रीमती इन्द्रा देवी गुप्ता,श्री हीरा लाल गुप्ताफांसी की सजा प्राप्त विनय शर्मा के पिता श्री हरे राम शर्मा माता श्रीमती चम्पा देवी शर्माफांसी की सजा प्राप्त मुकेश सिंह की माता श्रीमती रमा बाई का रो-रो कर बुरा हाल था। पवन और मुकेश की मां और बहनें तो रोते-रोते प्रदर्शन स्थल पर बेहोश भी हो गयी। उनका कहना था कि हमारे बच्चों ने कुछ भी नहीं किया। यदि गुनाह किया है तो हमारे बेटों के गुनाह की सजा हमें क्यों दी जा रही है। हमारे बेटों के फांसी पर चढ़ने से हमारी बेटियों से शादी कौन करेगा। जिंदगी भर के लिये पीड़ियों तक हमारे परिवार पर कलंक लग जायेगा। बेहतर है कि हमारे बच्चों को सरकार अंतरिक्ष में भेजे जा रहे रोबोट व्योममित्र के स्थान पर भेज दे। हमारे बच्चों के जीवन को देश के सद् काम लगा दें। हमाारे बच्चों को भारत के दुश्मन हाफिज सईद को मानव बम बना कर मारने के लिये भेज दो। बन्दरों और चूहों पर किये जा रहे दवाओं के परीक्षण हमारे बच्चों पर कर ले। किसी भी तरह हमारे परिवार को फांसी के कलंक से बचा लो।


-       पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर मीडिया कर्मियों वकीलो और प्रदर्शनकारी 2 दर्जन सगठनों के कार्यकर्ताओं को दारा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुकेश जैन ने बताया कि हमने महामहिम राष्ट्रपति जी और केन्द्रीय गृहमंत्री श्री अमित शाह जी को ज्ञापन देकर अनुरोध किया कि निर्भया मामले में फांसी देने से पहले सरकार इस पर भी गौर करें कि अपराधी न तो आतंकवादी हैं और न ही पेशेवर हत्यारे हैं और अपराध की प्रवृति भी परिस्थिति जन्य गैर इरादतन है।  निर्भयाऔर उसके बायॅफ्रेन्ड की लापरवाही और निर्भया के परिवार द्वारा उसे दी छूट ने भी इस परिस्थिति जन्य अपराध को हवा दी है। सरकार को पूरा हक है कि अपराधियों को सजा दें। किन्तु सरकार को कोई हक नहीं है कि वो किसी का सुहाग उजाड़े। किसी मां को जीवन भर के लिये रोता बिलखता छोड़े। किसी परिवार को जीवन भर के लिये इतना कलंकित कर दे कि उस परिवार की बहनें कुंवारी ही रह जायें। जिन गुनहगारों को निर्भया की मां टुकड़े-टुकड़े गैग की सिपहसालार स्वाति मालीवाल के साथ मिलकर दुर्दान्त हत्यारे बता रही है उन बलात्कारियों ने निर्भया और उसके बायॅफ्रेन्ड को बस से जिन्दा उतारा था यह जानते हुए भी कि इनकी गवाही उन्हे 10 साल की बामुशक्कत सजा दिलवा सकती है।


-       इस अवसर पर क्षत्रिय समाज न्यास के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री शिव नन्दन सिंह ने कहा कि गुनहगारों को फांसी की सजा दी जायेगी तो यह टुकड़े-टुकड़े गैंग की जीत होगी। क्यों कि नक्सलवादी गैंग की स्वाति मालीवाल सहित खूंखार नक्सलवादी केजरीवाल जिस प्रकार से निर्भया के समर्थन में प्रायोजित प्रोग्राम कर रहा था यह पूरे देश ने देखा है। किस प्रकार से मीडिया को टी आर पी दिलाकर अरबों-खरबों वारे न्यारे करवाने के लिये सर्वोच्च न्यायालय के नक्सलवादियों के रहनुमा जज भी इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं यह भी पूरा देश देख रहा है। जिसके एवज में सर्वोच्च न्यायालय का गैर जिम्मेदार मीडिया सर्वोच्च न्यायालय के जजों द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की हत्या की साजिश रचने वाले गौतम नवलखा जैसे खूंखार नक्सलवादी को लगातार दी जा रही जमानत पर खामौश रहता है।


-       इस अवसर पर बिहारी भाई सुरक्षा समिति की महामंत्री श्रीमती अंशिका देवीश्री बिजेन्द्र सिंह राष्ट्रीय संगठन मंत्री-राष्ट्रीय मजदूर एकता पार्टीश्री भगवान सिंहदिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष-भारतीय सम्पूर्ण क्रांतिकारी पार्टीभाई सुभाष चन्द्र राष्ट्रीय अध्यक्ष-खटिक चर्मकार बाल्मिकी धर्मरक्षक सेना और अन्य संगठनों ने भी महामहिम राष्ट्रपति जी से हाथ जोड़कर अनुरोध किया कि मुजरिमों में विनय शर्मा ब्राह्मन परिवार का हैं उसको फांसी पर चड़ाने से राष्ट्र पर ब्रह्म हत्या का कलंक लगेगा। जिससे राष्ट्र को बचना चाहिये। अन्यथा देश संकट में पढ़ सकता है।


-                             


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर