मजदूर यूनियनों के संयुकत मंच के आह्वान पर विकास सदन पर प्रदर्शन

दिल्ली के निर्माण मजदूर यूनियनों के संयुकत मंच के आह्वान पर विकास सदन पर एक विशाल प्रदर्शन का आयोजन किया गया। इस प्रदश्रन की मुख्य मांगे निम्नलिखित थी। सभी पुराने हितलाभों का तत्काल निस्तारण किया जाये, बोर्ड के जिला कार्यालयों में लम्बित सभी पंजीकरण एवं नवीनीकरण के कार्डों को श्रर्मिकों को दिया जाये,नवीनीकरण के काम को युद्ध स्तर पर चलाते हुए ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को बोर्ड के साथ जोड़ा जाये, पंजीकरण के लिए अलग काउंटर की व्यवस्था की जाये तथा उसी दिन कार्ड बना कर दिया जाये, स्कूलों में भवन निर्माण मजदूरों के बच्चों का वजीफा तुरन्त उनके खातों में स्थानांतरण किया जाये, सभी फार्मो को संक्षिप्त किया जाये, प्रदूषण के चलते निर्माण कार्य बंद होने की स्थिति में उन दिनांे के लिए पंजीकृत आर्थिक सहायता प्रदान की जाये, बोर्ड में स्थाई अधिकारियों की नियुक्ति की जाये,सभी निर्माण मजदूरों को राशन की सुविधा उपलब्ध कराई जाये, दिल्ली में सेस कलेक्शन को पारदर्शी बनाते हुए उसमें व्याप्त भ्रष्टाचार को समाप्त किया जाये, सभी मजदूरों को ई.एस.आई. के तहत बोर्ड द्वारा कम राशि पर पंजीकृत करवाया जाये, भवन निर्माण मजदूरों का पेंशन चालू किया जाय।
इस प्रदर्शन को लता, अमजद हसन, सुभाष भटनागर, मुकेश कश्यप, एम चोरसिया, डी.एन.सिहं, ओम प्रकाश शर्मा, राजेन्द्र गौतम, थानेश्वर, असरफ खालिद इत्यादि ने संबोधित किया। सभा का संचालन अनुराग सक्सेना ने किया।
प्रदर्शनकारियों का एक 11 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल सिद्धेश्वर शुक्ला, राजेन्द्र गौतम, अमजद हसन, लता, जवाहर के नेतृत्व में बोर्ड्र के सचिव एवं अध्यक्ष श्री गोपाल राय (श्रममंत्री, दिल्ली सरकार ) ज्ञापन दिया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*"आज़ादी के दीवानों के तराने* ’ समूह नृत्य प्रतियोगिता में थिरकन डांस अकादमी ने जीता सर्वोत्तम पुरस्कार

सेक्टर 122 हुआ राममय. दो दिनों से उत्सव का माहौल

ईश्वर के अनंत आनंद को तलाश रही है हमारी आत्मा