सेल का “डू मोर विथ लेस” पर फोकस के साथ लागत नियंत्रण पर ज़ोर

 


 


नई दिल्ली: स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने देश भर में स्थित अपने सभी संयंत्रों और इकाइयों में एक नए लागत नियंत्रण अभियान की शुरूआत की है। सेल अध्यक्ष श्री अनिल कुमार चौधरी ने कंपनी में लागत नियंत्रण पर नए सिरे से जोर दिया है। लागत नियंत्रण की दिशा में उठाए गए कदम से न केवल सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट और बेहतर दक्षता आती है बल्कि यह एक स्थायी प्रतिस्पर्धात्मक लाभ भी प्रदान करता है।


कंपनी की सभी संयंत्र और इकाइयां डू मोर विथ लेस” गाइडिंग प्रिन्सिपल के साथ उत्पादन लागत को कम करने के लिए मिशन मोड पर काम कर रही हैं। इस प्रयास से कर्मचारियों को बड़ी संख्या में जोड़ने और भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए, कंपनी के सभी संयंत्रों और इकाइयों में लगातार कार्यशालाओं का आयोजन किया जा रहा है। इन कार्यशालाओं का फोकस उत्पादन वृद्धि और तकनीकी-आर्थिक मानकों, कच्चे माल के बेहतर उपयोग और दूसरे अन्य साधनों से आय बढ़ाने के जरिये प्रचालन और प्रचालन दक्षता बेहतर करने के लिए कार्य योजना तैयार करना है।


इस अभियान के एक हिस्से के रूप में, सेल के विभिन्न संयंत्रों और इकाइयों के कार्यपालकों को क्रॉस-फंक्शनल टीमों में शामिल किया गया है। ये टीमें तकनीकी स्तर पर ध्यान केंद्रित करके रणनीति तैयार कर रही हैं ताकि संगठन में तकनीकी-आर्थिक मानकों और अन्य लागत संबंधी पहलुओं को बेहतर बनाया जा सके।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव