कांग्रेस, सपा और बसपा ने  अल्पसंख्यकों को केवल डराने का काम किया: आठवले


 नई दिल्ली। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया(आठवले) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री मा. रामदास आठवले ने बहुजन समाज पार्टी के  वरिष्ठ नेता छोटे खान सहित विभिन्न दलों से आए एक दर्जन से अधिक नेताओं को आरपीआईकी सदयस्ता ग्रहण कराते हुए कहा कि कांग्रेस, सपा और बसपा ने  अल्पसंख्यकों को केवल डराने का काम किया है जबकि देश के प्रधानमंत्री मा.नरेंद्र मोदीजी  ने अपनी सरकार के कार्यकाल में उनको न्याय देने के लिए ऐतिहासिक निर्णय लिए है ।श्री आठवले ने कहा कि आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी के  विकल्प के रूप में आरपीआई स्थापित हो रही है और बसपा के बसपा ,सपा व कांग्रेस के कई बड़े नेता शीघ्र ही बड़ी संख्या में आरपीआई की सदस्यता ग्रहण करेंगे ।उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली विधानसभा के चुनाव में आरपीआई कई सीटो  पर अपने प्रत्याशी उतारेगी ।
रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आ)के  राष्ट्रीय अध्यक्ष के निवास 11 सफदरजंग रोड स्थित कैंप कार्यालय में आयोजित अल्पसंख्यक सम्मेलन को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए मा.रामदास आठवले ने कहा कि अल्पसंख्यक समाज को डरने की कोई जरूरत नहीं है ,विरोधी दल कांग्रेस , समाजवादी पार्टी ,बहुजन समाज पार्टी केवल भाजपा के नाम पर मुसलमानों को डरा कर वोट लेने का काम करती है और उनको बदहाल स्थिति के कई सालों से शासन कर रहीविपक्षी  पार्टियां जिम्मेदार है ।
 श्री आठवले ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार सबका साथ , सबका विकास , सबका विश्वास के नारे को सफल बनाने में जुटी है ।इस मौके पर प्रयागराज के धर्म गुरु रंजीत महाराज ,बीएसपी लीडर छोटे खान , सहित समाजवादी पार्टी ,कांग्रेस के नेताओं ने आरपीआई की सदस्यता ग्रहण की ।
सम्मेलन के आयोजक शकील सैफी ने कहा कि आरपीआई में हम सभी का हित सुरक्षित है और आने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव में पार्टी के कई विधायक जीत कर आयेंगे ।उन्होंने कहा कि   अल्पसंख्यक समाज को न्याय दिलाने के लिए मैं मा.रामदास आठवले जी के नेतृत्व में निरंतर प्रयास करता रहूंगा ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*"आज़ादी के दीवानों के तराने* ’ समूह नृत्य प्रतियोगिता में थिरकन डांस अकादमी ने जीता सर्वोत्तम पुरस्कार

ईश्वर के अनंत आनंद को तलाश रही है हमारी आत्मा

इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल न लाया जाय और निजीकरण का विफल प्रयोग वापस लिया जाय : ऑल इंडिया पावर इंजीनियर्स फेडरेशन