वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा

बी.एस.पी. के नेतृत्व में, बामसेफ, डी.एस.-4 व बी.एस.पी. मूवमेन्ट के जन्मदाता एवं संस्थापक मान्यवर श्री कांशीराम जी को आज उनकी 13वीं पुण्य तिथि के अवसर पर देशभर में व ख़ासतौर से उत्तर प्रदेश में विभिन्न स्तरों पर अनेकों छोटे-बड़े कार्यक्रम आयोजित करके उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित, जिसके लिये सुश्री मायावती जी ने उन सबका तहेदिल से आभार प्रकट किया। देश के करोड़ों दलितों व उपेक्षितांें आदि के हक में उनका अनवरत मिशनरी संघर्ष था 'वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा' जो लगातार जारी है।
श्री कांशीराम जी जानते थे कि देश की जातिवादी एवं संकीर्ण ताकतें बी.एस.पी. मूवमेन्ट को लगातार चुनौतियाँ देती व नुकसान भी पहुंचाती रहेंगी जिसका बड़ी सूझबूझएवं दूरदृष्टि के साथ डट कर मुकाबला करके आगे बढ़ते रहनाहै:बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व सांसद सुश्री मायावती 


नई दिल्ली : बहुजन समाज पार्टी (बी.एस.पी.) के नेतृत्व में, बामसेफ, डी.एस.-4 व बी.एस.पी. मूवमेन्ट के जन्मदाता एवं संस्थापक मान्यवर श्री कांशीराम जी को आज उनकी 13वीं पुण्य तिथि के अवसर पर देशभर में व ख़ासतौर से उत्तर प्रदेश में विभिन्न स्तरों पर अनेकों छोटे-बड़े कार्यक्रम आयोजित करके उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि व श्रद्धा-सुमन अर्पित करके उनके 'सर्वजन हिताय व सर्वजन सुखाय' के संकल्पों पर आधारित भारत देश व समाज बनाने के संकल्प को दोहराया गया। देश के करोड़ों उपेक्षितांें के हक में उनका अनवरत मिशनरी संघर्ष था 'वोट हमारा राज तुम्हारा नहीं चलेगा' जो मजबूती के साथ लगातार जारी है।
बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व सांसद सुश्री मायावती जी, जो हरियाणा व महाराष्ट्र राज्य में हो रहे विधानसभा आमचुनाव की तैयारी में अपनी व्यस्थता के कारण इनदिनों दिल्ली में हैं, ने आज सुबह ही गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित 'बहुजन प्रेरणा केन्द्र' जाकर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और श्रद्धा-सुमन अर्पित किये। इसके बाद इस अवसर पर वहाँ मौजूद मान्यवर श्री कांशीराम जी के अनुयाइयों ने भी उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके अपने श्रद्धा-सुमन अर्पित किये तथा वहाँ रखी उनकी अस्थिकलश के दर्शन व नमन किये।
जबकि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बी.एस.पी. सरकार द्वारा उनकी स्मृति में स्थापित भव्य व ऐतिहासिक 'मान्यवर श्री कांशीराम जी स्मारक स्थल' में लखनऊ मण्डल के बी.एस.पी. कार्यकर्ताओं ने वहाँ विशाल गुम्बद के नीचे स्थापित उनकी बड़ी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित किया। 
इसके अलावा हर वर्ष की तरह इस साल भी पूरे देश में राज्य, मण्डल, जिला व बूथ स्तरीय कार्यक्रम/संगोष्ठी करके 'बहुजन नायक' मान्यवर श्री कांशीराम जी को श्रद्धा-सुमन अर्पित किये गये, जिसके लिए उन सभी स्तर के लोगों का सुश्री मायावती जी ने तहेदिल से शुक्रिया व आभार प्रकट किया और आश्वस्त किया कि वह सर्वसमाज के करोड़ों ग़रीबों, मज़दूरोें, किसानों व अन्य मेहनतकश लोगों के साथ-साथ दलितों, पिछड़ों, मुस्लिम व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों के हित व कल्याण तथा आत्म-सम्मान व स्वाभिमान एवं उनके जान-माल व मजहब की सुरक्षा के लिए खासकर बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर एवं मान्यवर श्री कांशीराम जी के बताये रास्ते पर पूरे जी-जान से आखिरी साँस तक चलती रहंेगी। कोई ताकत उन्हें डगमगा नहीं सकती है।
परमपूज्य बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के आत्म-सम्मान एवं स्वाभिमान के मानवतावादी मूवमेन्ट को हर प्रकार से समर्पित मान्यवर श्री कांशीराम जी जानते थे कि देश की जातिवादी व संकीर्ण ताकतें साम, दाम, दण्ड, भेद आदि अनेकों हथकण्डों के माध्यम से बीएसपी मूवमेन्ट को लगातार चुनौतियाँ देती व नुकसान भी पहुंचाती रहंेगी लेकिन इसका बड़ी सूझबूझ व दूरदृष्टि के साथ डट कर मुकाबला करके आगे बढ़ते रहना है जिसका बेहतरीन उदाहरण यूपी में पार्टी का अनवरत संघर्ष है। 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव