रेहड़ी पटरी वालों का दिल्ली नगर निगम सिविक सेंटर पर विशाल प्रदर्शन

रेहड़ी पटरी वालों का दिल्ली नगर निगम सिविक सेंटर पर विशाल प्रदर्शन।
दिल्ली प्रदेश रेहड़ी पटरी वालों का दिल्ली नगर निगम आयुक्त सिविक सेंटर पर दिनांक 26 सितम्बर 2019 को प्रदर्शन हुआ। 2 सितम्बर 2019 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश अतिक्रण हटाने की आड़ में दिल्ली से रेहड़ी पटरी वालों को खदेड़ा जा रहा है जिससे रेहड़ी पटरी स्व रोजगारियों में केन्द्र एवं दिल्ली की राज्य सरकार के खिलाफ गुस्सा व्याप्त है। सुप्रीम कोर्ट का आदेश 9 सितम्बर 2013, पथ विके्रता अधिनियम 2014 एवं दिल्ली सरकार की स्कीम 2019 रेहड़ी पटरी वालों की जीविकी को संरक्षण प्रदान करता है। फिर भी दिल्ली नगर निगम सभी कानूनों का उल्लंधन कर रहा है यह कहीं न कही केन्द्र की मोदी सरकार खुदरा व्यापार में सौ प्रतिशत प्रत्यक्ष विेदशी निवेश कराकर वालमार्ट जैसी अमेरिका कम्पनी को भारत में व्यापार करने के लिए सुविधा प्रदान करने के संदर्भ में रेहड़ी पटरी वालों को उजाड़ने का अभियान चलाया जा रहा है।
रेहड़ी पटरी वाले शहीद भगत सिंह पार्क पर एकत्र हुए। इसके बाद दिल्ली प्रदेश रेहड़ी पटरी खोमचा हाकर्स यूनियन के बैनर के नीचे रेहड़ी पटरी वाले मार्च करते हुए दिल्ली नगर निगम सिविक सेंटर पहुंॅचे जहांॅ पर विशाल प्रदर्शन के साथ धरना दिया गया। धरने का संचालन का. रविन्द्र चन्द्र की अध्यक्षता में कामरेड शकील अहम्द सिद्दीकी ने किया। का. गंगेश्वर दत्त शर्मा एवं का. के.एम. तिवारी ने धरने को सम्बोधित किया। इसके बाद अखिल भारतीय सीटू सचिव का. ए.आर. सिन्धु ने धरने को सम्बोधित किया। सम्बोधित करने वालों में एच.सी.पंत, का. जगदीश मनोचा, का. एस.एन.एस. कुशवाह इसके बाद रेहड़ी पटरी का एक प्रतिनिधि मण्डल का. अनुराग सक्सेना के नेतृत्व में निगम आयुक्त उत्तरी एवं दक्षिणी से मिलने गया। लेकिन आयुक्त मीटिंग की बजह से नहीं मिले। प्रतिनिधि मण्डल ज्ञापन देकर वापस चले आये।
दिल्ली नगर निगम के आयुक्तों का रेहड़ी पटरी वालों के प्रतिनिधि मण्डल से न मिलना, इनकी रेहड़ी पटरी वालों के प्रति निष्क्रिकता एवं अर्कमण्डता एवं उसको हल न करने की ओर उदसीन रवैये को रेखाकिंत करता है। इस रवैये के खिलाफ यूनियन ने निश्चय किया है कि केन्द्र एवं दिल्ली नगर निगम के खिलाफ व्यापक आंदोलन चलाया जायेगा।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

योगदा आश्रम नोएडा में स्वामी चिदानंद गिरी के दिव्य सत्संग से आनंदित हुए साधकगण

सुपरटेक टावर के ध्वस्त होने के बाद बढ़ेंगी स्वास्थ्य चुनौतियां, रखें ये सावधानियॉ

आत्मसाक्षात्कार को आतुर साधकों को राह दिखाने के लिए ईश्वर द्वारा भेजे गए संत थे योगानंद- स्वामी स्मरणानंद