पुस्तकालय एवं बर्तन बैंक का हुआ उद्घाटन 

 

 

नोएडा। पुस्तकें इंसान की सबसे अच्छी मित्र होती हैं क्योंकि उनका अध्ययन प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से व्यक्तितत्व को प्रभावित करता है यह ज्ञान का वह अथाह सागर है जो आज भी लोगों की जिज्ञासाओं को शांत करने के साथ ही उनके बौद्धिक विकास में उपयोगी सिद्ध होती है। पुस्तक ज्ञान अर्जित करने का सबसे सरल एवं सस्ता साधन है इसके हमे किसी पर निर्भर रहने की आवश्यकता नही है यह बात उत्त्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिलाध्यक्ष नरेश कुच्छल ने सेक्टर 46 स्तिथ सामुदायिक केंद्र मे पुस्तकालय एवं बर्तन बैंक के उद्धघाटन  के दौरान बतौर मुख्यातिथि कही। सेक्टर 46 आरडब्लूए द्वारा सामुदायिक केंद्र मे सेक्टर वासियों के लिए पुस्तकालय एवं बर्तन  बैंक प्रारम्भ किया गया आरडब्लूए अध्यक्ष टी.सी. गौड़ ने बताया कि पुस्तकालय प्रारम्भ करने की मांग काफी समय से उठ रही थी इससे सेक्टर वासियों को काफी लाभ होगा पुस्तकालय मे हर उम्र के सेक्टर वासियों के विभिन्न प्रकार की पुस्तकें मिल सकेंगी पुस्तकों के संग्रह के लिए हम सेक्टर वासियों से निवेदन करते हैं कि जो भी पुरानी ज्ञानवर्धक पुस्तकें उनके पास हों वह उन्हें रद्दी मे बेचने के बजाय पुस्तकालय में संग्रहित करने हेतु आरडब्लूए ऑफिस पर जमा करा सकता है । महासचिव राजीव अग्रवाल ने अशोक भसीन का धन्यवाद अदा किया जिन्होंने प्लास्टिक बैन की मुहिम को आगे बढ़ाते हुऐ  बर्तन बैंक के लिए सामुदायिक केंद्र में स्टील के 500 सेट बर्तनों का सहयोग प्रदान किया जिसमे थाली,गिलास,कटोरी एवं चम्मचों की व्यवस्था की गई है आरडब्लूए का लक्ष्य कम से कम 1000 सेटों की व्यवस्था करना है जिन्हें जरूरत पड़ने पर सेक्टरवासी अपने घर पर किसी भी प्रोग्राम के लिये आसानी से प्राप्त कर सकते हैं यह केंद्र सरकार की प्लास्टिक बैन की योजना को ध्यान मे रखकर सेक्टर द्वारा चलाई जा रही अच्छी मुहिम है । इस अवसर पर युद्धवीर चौहान, निर्मल सिंह, राजीव अग्रवाल, राजीव कुमार, ए. पी. बब्बर, सुरेंद्र अग्रवाल, गिरिराज अग्रवाल, अरुण भाटी, नंदकिशोर मास्टर जी, शिव कुमार जैन, राजवीर लोहिया, रामवीर यादव सहित सेक्टर के कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव