साहित्य अकादेमी युवा पुरस्कार 2019 में कविता रही अव्वल


नई दिल्ली। साहित्य अकादेमी ने आज 23 भाषाओं में अपने वार्षिक युवा पुरस्कार 2019 की घोषणा की। कविता की 11 पुस्तकों, कहानी की 6 पुस्तकों, 5 उपन्यासों और 1 साहित्यिक आलोचना की कृति को साहित्य अकादेमी युवा पुरस्कार 2019 से नवाज़ा गया।
23 भाषाओं के प्रतिनिधि लब्धप्रतिष्ठ सदस्यों की चयन समिति द्वारा अनुशंसित इन पुरस्कारों के लिए आज साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष डाॅ. चंद्रशेखर कंबार की अध्यक्षता में साहित्य अकादेमी के कार्यकारी मंडल ने संस्वीकृति प्रदान की।
कविता विधा में जिन रचनाकारों को उनकी कृतियों के लिए पुरस्कार हेतु चुना गया, वे इस प्रकार हैं - रुजब मुशाहारी (बोडो), अनुज लुगुन (हिंदी), सागर नाज़िर (कश्मीरी), अनुजा अकथुट्टु (मलयाळम्), जितेन ओइनाम्बा (मणिपुरी), सुशील कुमार शिंदे (मराठी), करन बिराहा (नेपाली), युवराज भट्टराई (संस्कृत), गुहिराम किस्कू (संताली), किरन परयाणी 'अनमोल' (सिंधी) और सबरीनाथन (तमिऴ)।
कहानी विधा में जिन कहानीकारों का पुरस्कार हेतु चयन किया गया, उनमें शामिल हैं - संजीब पाॅल डेका (असमिया), सुनील कुमार (डोगरी), तनुज सोलंकी (अंग्रेज़ी), अजय सोनी (गुजराती), हेमंत अइया (कोंकणी) और कीर्ति परिहार (राजस्थानी)।
उपन्यास विधा में पुरस्कृत कथाकार हैं - मोमिता (बाङ्ला), फकीर (श्रीधर बनवासी जी.सी.) (कन्नड), यदविंदर सिंह संधू (पंजाबी), गड्डम मोहन राव (तेलुगु) और सलाम अब्दुस समद (उर्दू)।
साहित्यिक आलोचना के लिए शिशिरा बेहेरा (ओडिया) का पुरस्कार हेतु चयन किया गया।
मैथिली भाषा के लिए पुरस्कार शीघ्र की तिथियों में घोषित किए जाएँगे।
प्रक्रिया के अनुसार, कार्यकारी मंडल ने चयन समिति द्वारा एकमत अथवा बहुमत से चुनाव के आधार पर पुरस्कारों की घोषणा की। ये पुरस्कार किसी लेखक, जिसकी उम्र पुरस्कार-वर्ष में 1 जनवरी को 35 वर्ष से कम हो, उसकी प्रकाशित पुस्तक पर दिए जाते हैं।
पुरस्कार विजेता को पुरस्कार-स्वरूप एक उत्कीर्ण ताम्र फलक तथा रु. 50000/- की राशि का चेक आने वाली किसी तिथि में एक विशेष कार्यक्रम में प्रदान किए जाएँगे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सुपरटेक टावर के ध्वस्त होने के बाद बढ़ेंगी स्वास्थ्य चुनौतियां, रखें ये सावधानियॉ

गोविंद सदन दिल्ली के संस्थापक बाबा विरसा सिंह के आगमन दिवस पर गुरमत समागम का आयोजन

साई अपार्टमेंट सेक्टर 71 में लगाया गया टीकाकरण शिविर