हवा को विषाणुरहित करने वाले ऑलबाउट के वुल्फ एयरमास्क की बढ़ रही है वैश्विक मांग

 को


च्चि : केरल के एक स्टार्टअप को इसके इलेक्ट्रानिक डिवाइस के लिए 30 देशों से आर्डर मिले हैं। यह डिवाइस संपर्क में आने वाली हवा को उस समय विषाणुरहित कर देता है।

'वुल्फ एयरमास्क' को बाजार में उतारे जाने के एक माह के भीतर इसका विकास करने वाले ऑलबाउट इनोवेशन को इस आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के लिए 30 देशों से 20,000 से अधिक ऑर्डर मिल चुके हैं।

देश के भीतर भी, अन्य कई राज्य इस अनूठे डिवाइस के लिए ऑलबाउट इनोवेशन से संपर्क कर रहे हैं। कंपनी के एक अधिकारी ने कहा कि ऑर्डर ऑनलाइन भी प्राप्त हो रहे हैं और डीलरों के माध्यम से भी किए जा रहे हैं।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के सहयोग से हुए एक परीक्षण के अनुसार, वुल्फ एयरमास्क केवल 15 मिनट में नोवल कोरोनावायरस में 99 प्रतिशत की कमी कर सकता है। ये डिवाइस दो प्रकार के होते हैं – एक 500 वर्ग फुट क्षेत्र के भीतर हवा को कीटाणुरहित कर सकता है और दूसरा 1,000 वर्ग फुट के दायरे में आने वाली हवा को।

दक्षिण कोच्चि से 50 किमी दूर अलाप्पुझा स्थित ऑलबाउट इनोवेशन के निदेशक श्री सुजेश सुगुनन के अनुसार विदेशों से जो आर्डर प्राप्त हो रहे हैं वे खाडी देशों एवं अन्य जीसीसी देशों जैसे फिनलैंड, डेनमार्क, स्वीडन और नीदरलैंड, संयुक्त अरब अमीरात, कतर और सऊदी अरब के अलावा उत्तरी अमेरिका और अफ्रीका के देशों के साथ–साथ ब्राजील, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया और नेपाल जैसे देश हैं।

उन्होंने बताया कि केरल के अलावा देश के जिन राज्यों से आर्डर मिल रहे हैं उनमें तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, राजस्थान और पश्चिम बंगाल भी शामिल हैं। इसके अलावा मुंबई और दिल्ली जैसे महानगरों से भी आर्डर मिल रहे हैं। वुल्फ एयरमास्क की भारत में अधिकतम कीमत 29,500 रुपये है।

आयातित सामानों के जरिए साथ स्वदेशी रूप से विकसित, वुल्फ एयरमास्क SARS-CoV-2 विषाणु को तोड़ देता है। भारत सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग के स्वायत्त संस्थान राजीव गांधी जैव प्रौद्योगिकी केंद्र (आरजीसीबी) द्वारा किए गए परीक्षणों में इसकी कारगरता साबित हुई है। आरजीसीबी त्रिवेंद्रम स्थित परीक्षण प्रयोगशाला है जो आईसीएमआर से मान्यता प्राप्त है। वुल्फ एयरमास्क देश का अपने तरह का पहला उत्पाद है जिसे आरजीसीबी ने सत्यापित किया है।

नौ महीने पहले शुरू हुए ऑलबाउट इनोवेशन के घरेलू ग्राहकों में शामिल हैं – इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन, दुबई पोर्ट वर्ल्ड, डिज़नी एशियानेट और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी। इसके अलावा, राज्य स्तर पर लूर्डेस हॉस्पिटल, राजगिरी कॉलेज, कैसीनो होटल ग्रुप, रमाडा होटल ग्रुप और एरीज़प्लेक्स शामिल हैं। इसके अलावा विभिन्न सिनेमा घरों से भी इसकी मांग की जा रही है।

इस उपकरण को जब चालू किया जाता है तो यह चौबीसों घंटे हर दिशा में सुरक्षा प्रदान करता है। यह घर में विषाणुओं के संचरण को भी रोकता है। विकसित देशों में प्रयोग किए गए मानक उपकरणों से उत्पादित होने वाले निगेटिव आयन स्वास्थ्य और शारीरिक क्षमता को बढाते हैं।

जर्मन तकनीक से विकसित और डेनमार्क के घटकों के जरिए बनाए गए वुल्फ एयरमास्क का उपयोग 60,000 घंटे (नौ साल तक) के लिए किया जा सकता है। इसके लिए किसी सर्विस या इसके किसी हिस्से को बदलने की जरूरत नहीं है।

आयन-आधारित कोविड-निवारक उत्पाद की बदौलत कंपनी को दो राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुए हैं : एमएसएमई टाइम2लीप बेस्ट कोविड सॉल्यूशन और बिजनेस मिंट (2020 के सोशल इनोवेशन के तहत)। ऑलबाउट इनोवेशन वैज्ञानिकों, उद्यमियों, डॉक्टरों, इंजीनियरों, सामाजिक स्वयंसेवकों और वाणिज्यिक साझेदारों के सहयोग से काम कर रहा है और आधुनिक क्रांति 4.0 का अनुपालन करते हुए स्थायी और पर्यावरण के अनुकूल समाधान तैयार कर रहा है।