* 30 अक्टूबर को होगी भारत ई मार्केट पोर्टल ( BHARATEMARKET) लॉंच *

* BHARATEMARKET पर चीन के माल में निवेश के लिए कोई स्थान नहीं *


कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने आज 30 अक्टूबर को नई दिल्ली में अपने आगामी ई-कॉमर्स पोर्टल "BharatEMarket"  को लॉन्च करने की घोषणा की है। देश में बढ़ते ई-कॉमर्स बाजार के साथ भौतिक व्यापार को क्लब करने के लिए, CAIT ने कुछ महीने पहले अपने खुद के ई कॉमर्स प्लेटफॉर्म की शुरुआत की घोषणा की थी और अब उनके ब्रांड लोगो के लॉन्च के साथ Bharatemarket एक वास्तविकता होगा । भारत के ई-कॉमर्स में क्रांतिकारी बदलाव आयेगा। पोर्टल Bharatemarket को नवीनतम तकनीक से लैस किया गया है, जो डिजिटल भुगतान और कई अन्य प्रतिष्ठित प्रौद्योगिकियों के साथ मजबूत लॉजिस्टिक सिस्टम है। पोर्टल में कभी कोई विदेशी निवेश नहीं होगा और चीन में उत्पादित कोई भी वस्तु इस पोर्टल पर नहीं बेची जाएगी। डेटा को भारत में स्थित सर्वर पर भारतीय में संग्रहीत किया जाएगा। सही मायने में, यह वास्तव में भारतीय ई-कॉमर्स पोर्टल-सीएआईटी कहा जाएगा।


सीएआईटी के दिल्ली एन सी आर संयोजक सुशील कुमार जैन ने दशहरे के अवसर पर आज यह घोषणा करते हुए कहा कि भारते ई मार्केट का लोगो देश के एक प्रसिद्ध विज्ञापन और ब्रांडिंग कंपनी द्वारा डिजाइन किया गया है। कुछ महीनों पहले CAIT द्वारा किए गए एक राष्ट्रीय सर्वेक्षण में व्यापारियों और उपभोक्ताओं से प्राप्त सुझावों के आधार पर लोगो तैयार किया गया है। लोगो को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि यह अपने लिए भारतेमार्केट की विशेष विशेषताओं के बारे में बोलता है जो वास्तव में भारत की महान परंपराओं को प्रतिबिंबित करेगा।


उन्होंने आगे कहा कि भारतेमार्केट अन्य ई-कॉमर्स पोर्टलों से बहुत अलग होगा, जो बिजनेस (बी 2 बी) और बिजनेस टू कंज्यूमर्स (बी 2 सी) दोनों को सबसे आधुनिक तरीके से व्यापार सुविधाएं प्रदान करते हैं। पोर्टल एंड टू एंड सॉल्यूशन प्रदान करेगा यानी मैन्युफैक्चरर्स से कंज्यूमर्स के लिए एक मजबूत सप्लाई चेन होगी। 


सुशील कुमार जैन ने कहा कि वर्तमान भौतिक आपूर्ति श्रृंखला प्रणाली व्यापारियों को एक अतिरिक्त व्यवसाय एवेन्यू प्रदान करने वाले पोर्टल पर एक इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली में परिवर्तित हो जाएगी। अब, देश भर के व्यापारियों की दुकानें 24x7 खुली रहेंगी। भारत ई मार्केट व्यापारियों का, और भारत के व्यापारियों और उपभोक्ताओं के लिए एक ई-कॉमर्स पोर्टल होगा।


सुशील कुमार जैन ने आगे कहा कि भारत ई मार्केट की अनूठी विशेषता यह होगी कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का दृष्टिकोण स्थानीय और अतिमनिभर भारत के लिए डिजिटल भुगतान समाधानों पर अधिक ध्यान देने के लिए है। सीएआईटी के देश भर में 40 हजार से अधिक व्यापार संगठन हैं क्योंकि इसके सहयोगी देश भर में 7 करोड़ से अधिक छोटे व्यवसाय का प्रतिनिधित्व करते हैं। ट्रेड असोसिएशनों को भारत ई मार्केट पर व्यापारियों के ऑनबोर्डिंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जाएगी।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन