एनएफएल की विजयपुर इकाई करेगी जैविक अपशिष्ट से खाद का उत्पादन

परियोजना का उद्देश्य बागवानी अपशिष्ट सहित टाउनशिप में उत्पन्न जैविक अपशिष्ट का लगभग 2000 किलोग्राम प्रति दिन पुनर्चक्रण करना है


नई दिल्ली 


नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (एनएफएल), उर्वरक विभाग के तहत एक सार्वजनिक उपक्रम, विजयपुर (मध्य प्रदेश) में एक कार्बनिक अपशिष्ट परिवर्तक (ओडब्ल्यूसी) संयंत्र स्थापित करने जा रहा है। इस इकाई में एकत्र किए जाने वाले जैविक अपशिष्ट को ओडब्ल्यूसी में ले जाया जाएगा जहां इसे कई भागों में अलग किया जाएगा। उपयोगी खाद के रूप में इसे तैयार करने में लगभग 10 दिन लगेंगे।


'स्वच्छ भारत’ पहल के तहत, इस परियोजना का उद्देश्य बागवानी अपशिष्ट सहित टाउनशिप में उत्पन्न जैविक अपशिष्ट के लगभग 2000 किलोग्राम का प्रति दिन पुनर्चक्रण करना और इसे उपयोगी खाद में बदलना है।


इस इकाई की योजना उत्पादित खाद को खेतों की ऊपज बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करने की है, इस प्रकार पार्क या सार्वजनिक स्थानों के विकास के लिए इस्तेमाल खाद/खाद की खपत को प्रतिस्थापित किया जा सके। इस खाद का उपयोग कॉलनियों में रहने वाले लोग अपने लॉन और किचन गार्डन में भी कर सकते हैं।


विजयपुर इकाई के मुख्य महाप्रबंधक (सीजीएम) श्री जगदीप शाह सिंह ने इकाई के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में आगामी जैविक अपशिष्ट परिवर्तक संयंत्र का भूमिपूजन किया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव