पुलिस मुठभेड़ में विकास दुबे के साथी प्रवीन उर्फ बऊआ दुबे मारा गया

प्रवीन उर्फ बऊआ दुबे पर था 50 हजार का इनाम 


इटावा। यूपी पुलिस के लिए गुरुवार का दिन खास रहा। कानपुर पुलिस हत्याकांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के करीबी प्रवीन उर्फ बऊआ दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया। पुलिस के मुताबिक सिविल लाइन इलाके में कचौरा चौराहे के पास कार लूटकर चार साथियों के साथ भाग रहे बऊआ दुबे पुलिस एन्काउन्टर में मारा गया। बबुआ दुबे कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में 02 जुलाई की रात हुए पुलिस हत्याकांड में शामिल था। 


इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने बताया कि इटावा कानपुर हाइवे पर बकेवर इलाके के महेवा में गुरुवार को तड़के करीब 3 बजे एक कार को लूटने के बाद बदमाश भाग रहे थे। इस सूचना के आधार पर पूरे जिले में नाकाबंदी की गई। उसी दौरान पुलिस को इस बात की जानकारी मिली की कार लूटने वाले बदमाश सिविल लाइन इलाके में कचौरा चौराहे के पास पहुंचे हैं। पुलिस ने बदमाशों की घेराबंदी की। अपने को घिरा देखकर बदमाशों ने गोलियां चलानी शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की, जिसमें एक बदमाश गोली लगने से घायल हो गया। उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। मरने वाले बदमाश की पहचान कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के करीबी साथी प्रवीन उर्फ बऊआ दुबे के रूप में हुई है। उस पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया था। 


एसएसपी के मुताबिक ऐसा लग रहा है कि पुलिस से बचकर भाग रहे बदमाशों की कार पेड़ से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। उसके बाद बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी और पुलिस की जबाबी फायरिंग में एक बदमाश मारा गया। मारे गए बदमाश के दूसरे साथी मौके से फरार होने में कामयाब हो गए। पुलिस को मारे गए बदमाश के कब्जे से एक पिस्टल, एक डबल बैरल बंदूक और कारतूस मिले हैं। मारे गए बदमाश की पहचान विकास दुबे के साथी प्रवीन उर्फ बऊआ दुबे के रूप में की गई है। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित है। मारा गया बदमाश कानपुर के चौबेपुर के बिकरु गांव के खूनी कांड में फरार चल रहा था। 


एसएसपी ने बताया कि रात करीब 3 बजे बकेवर इलाके के महेवा के पास में झारखंड से दिल्ली जा रहे विजय और गणेश की स्विफ्ट डिजायर कार हथियारों के बल पर बदमाशों ने लूट ली और आगरा की ओर भागने लगे। वे सिविल लाइन इलाके के कचौरा चौराहे को पार करते हुए जा रहे थे, उसी बीच पुलिस ने उन्हें घेर लिया। एसएसपी ने बताया कि मौके से तीन बदमाश फरार हो गए। उनकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है। 


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन