प्रेम प्रसंग के चलते हुई थी आदिल की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार

रामराज निवासी एक लड़की से थे आदिल के प्रेम संबंध


मुजफ्फरनगर। रामराज में बाइक श्रृंगार करने की दुकान करने वाले कैथोड़ा निवासी आदिल पुत्र रिजवान की हत्या प्रेम प्रसंग के चलते हुई थी। यह बात आदिल के हत्यारों ने पुलिस की पूछताछ के दौरान कबूली है। पुलिस ने हत्या करने वाले तीन युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उनकी निशानदेही पर तमंचा तथा बाइक बरामद की है। हत्या में शामिल मुख्य आरोपी व उसका एक साथी को तलाश में दबिश दी जा रही है।


थाना प्रभारी शिवदत्त सिंह ने बताया कि बीते सोमवार को जनपद मुजफ्फरनगर के थाना मीरापुर के गांव कैथोड़ा के रहने वाले 20 वर्षीय आदिल पुत्र रिजवान की रामराज के एक बाग में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। आदिल के परिजनों ने चार अज्ञात युवकों के विरुद्ध हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने हत्या में शामिल तीन युवकों सागर अहलावत पुत्र मनोज कुमार, शुभम अहलावत पुत्र किरणपाल अहलावत, और अभिषेक सैनी पुत्र विनोद को शुक्रवार की रात गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि मोडकला निवासी प्रिंस पुत्र हरेंद्र सिंह के कहने पर उन्होंने आदिल की बाग में बुलाकर हत्या की थी। उन्होंने आदिल को सीने में गोली मारकर मौत के घाट उतारा था। पकड़े गए हत्यारोपियों ने बताया कि रामराज निवासी एक युवती से आदिल व प्रिंस के प्रेम संबंध थे। दोनों बारी-बारी से युवती से मिलते रहते थे। पहले तो दोनों को यह बात मालूम नहीं थी, लेकिन जब दोनों को इस बात का पता चला तो दोनों में आपस में रंजिश रखने लगे। प्रिंस ने आदिल को कई मर्तबा समझाया कि वह उसकी प्रेमिका से मिलना बंद कर दे। लेकिन, आदिल ने हर बार उसकी बात को अनसुना कर दिया। जिसके चलते प्रिंस ने उसे ठिकाने लगाने की योजना बनाई। घटना के रोज उन्होंने आदिल को पेट्रोल लाने के बहाने बाग में बुलाया और उसकी बाइक सड़क किनारे खड़ी करवाने के बाद उसे बाद में यह कहते हुए ले गए कि अंदर बैठकर आपस में कुछ बात करनी है। वहां पर प्रिंस ने आदिल के सीने में गोली मार दी। उसके बाद वह हम सभी को साथ लेकर मौके से फरार हो गया।


पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि घटना के बाद तय किया गया कि कुछ दिनों तक कोई एक दूसरे से नहीं मिलेगा। लेकिन, किसी तरह पुलिस को पूरे मामले की जानकारी हो गई। पुलिस ने दौराला और सरसवा में दबिश मारकर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी शिवदत्त सिंह ने बताया कि प्रिंस के घर पर भी दबिश दी गई है, लेकिन वह अभी फरार है। हत्या में प्रिंस के साथ उसका एक अन्य साथी भी शामिल था, जिसकी जानकारी पकड़े गए युवकों को नहीं है। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर तमंचा और बाइक बरामद कर ली है।