ग्रेटर नोएडा मेें बनेंगे 4 नए औद्योगिक सेक्टर : नरेंद्र भूषण

 

 

- उद्योगों के लिए किसानों से खरीदी जाएगी 1400 एकड़ भूमि

 

ग्रेटर नोएडा।  लॉकडाउन में थोड़ी सी ढील मिलते ही ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण  ने विकास को गति देने के लिए कमर कस ली है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) नरेंद्र भूषण ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने विकास कार्यों को गति देने के साथ ही आम लोगों को कोरोना के संक्रमण से सुरक्षा के लिए हरसंभव उपाय करने के निर्देश दिए। उन्होंने औद्योगिक आवंटन के लिए लैंड बैंक बनाने, किसानों से जमीन खरीदने और अथॉरिटी के कामों के लिए ई-फाइलिंग सिस्टम विकसित करने के निर्देश दिए। उन्होंने अफसरों से कहा कि ग्रेटर नोएडा में अतिशीघ्र 04 नए औद्योगिक सेक्टर बनाए जाएं। इसके लिए 1400 एकड़ जमीन की जरूरत होगी। इसके लिए किसानों से बातचीत शुरू की जाए। 

 

सीईओ नरेंद्र भूषण ने समीक्षा बैठक के दौरान औद्योगिक आवंटन प्रक्रिया शुरू करने के लिए बड़े पैमने पर कार्ययोजना तैयार कर 4 नए औद्योगिक सेक्टर विकसित करने की प्रक्रिया शुरू करने को कहा। इस योजना में लगभग 1400 एकड़ भूमि नए औद्योगिक आवंटनों के लिए उपलब्ध कराने की बात कही। उन्होंने इस काम को शीर्ष प्राथमिकता के आधार पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के चलते चीन, कोरिया, ताइवान, जापान तथा अमेरिका की तमाम कम्पनियां उत्तर प्रदेश में अपने उद्योग स्थापित करने के लिए भूमि आवंटित कराने का प्रयास कर रही हैं।

 

नरेंद्र भूषण ने कहा कि लॉकडाउन-4.0 की घोषणा के बाद जनसामान्य का मूवमेन्ट शुरू हो गया है। बाजार और दुकानें खोलने की मंजूरी दे दी गई है। इसलिए इन स्थानों पर सेनिटाइजेशन का काम युद्धस्तर पर किया जाए। उन्होंने बाजारों और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के भी निर्देश दिए। 

 

बैठक के दौरान सीईओ ने परियोजना, स्वास्थ्य, अर्बन और उद्यान विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों नगरीय सुविधाओं, उद्यानीकरण तथा अन्य आवश्यक सेवाओं के लिए प्राथमिकता के आधार पर निविदा प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने सिस्टम विभाग को ई-फाइलिंग सिस्टम को अतिशीघ्र शुरू करने को कहा, जिससे मूल दस्तावेजों को फिजिकल रूप में प्रयोग न करना पड़े और केवल ई-फाइलिंग सिस्टम से ही पत्रावलियों का निस्तारण किया जा सके। उन्होंने प्राधिकरण कार्यालय में आगन्तुकों के प्रवेश के लिए समय निर्धारित कर उसकी सूचना सम्बन्धित व्यक्ति को एसएमएस के माध्यम से प्रेषित कर दी जाए, जिससे प्राधिकरण कार्यालय में अनावश्यक रूप से लोग एकत्रित न हों।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव