देहरादून में आरोग्य मंथन 3.0 का आयोजन


देहरादून 

आयुष्मान योजना की तीसरी वर्षगांठ पर आज प्रदेश की राजधानी देहरादून के होटल सरोवर प्रीमियर में आरोग्य मंथन 3.0 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी ने बतौर मुख्य अतिथि व प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा धन सिंह रावत ने बतौर विशिष्ट अतिथि शिरकत की। 

कार्यक्रम में आयुष्मान योजना में उत्कृष्ट योगदान करने वाले अस्पतालों को सम्मानित किया गया। लाभार्थियों ने अपने अनुभव साझा किए। साथ ही मुख्यमंत्री  ने राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण के पोर्टल व राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण के टॉल फ्री न0 155368 की लॉचिंग और ‘गेट वेल सून ’’ कार्ड जारी करने की प्रक्रिया की शुरूआत की।

आरोग्य मथन 3.0 कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री  ने कहा कि मा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में आयुष्मान भारत योजना के साथ ही प्रदेश की अटल आयुष्मान योजना का लाभ जन जन तक पहुंच रहा है। यह विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना है। हमें प्रसंन्नता है कि प्रदेश में यह योजना पूरी तरह से जन अपेक्षाओं पर खरा उतर रही है। इस मौके पर मुख्यमंत्री जी ने आयुष्मान कार्ड निशुल्क बनाने की घोषणा की साथ ही योजना के क्रियान्वयन में आने वाली व्यवहारिक दिक्कतों को दूर करने की बात कही उन्होंने कहा कि आसमान योजना के तहत 3:30 लाख लोग मुफ्त उपचार ले चुके हैं, और इस पर 460 करोड़ रूपया खर्च हो चुका है। इस मौके पर उन्होंने राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण का पोर्टल टोल फ्री नंबर भी लॉन्च किए।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा धन सिंह रावत  ने कहा कि प्रदेष में अभी तक अटल आयुश्मान के तहत 3: 50 लाख से अधिक लाभार्थियों पर 4.61 अरब की धनराशि खर्च की जा चुकी है। सबसे अच्छी बात यह है कि लोग इस महत्वपूर्ण योजना का पूरा लाभ उठा रहे हैं। गंभीर बीमारियों का उपचार भी योजना के तहत मुफ्त में हो रहा है। उन्होंने कहा कि जन स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। 

सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य अमित नेगी ने राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर रोशनी डाली। आरोग्य मंथन कार्यक्रम में आयुष्मान योजना के तहत बेहतर कार्य करने वाले 12 चिकित्सालयों को प्रषस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित (08 सरकारी, 02 निजी चिकित्सालय उत्कृश्ट सेवा के लिये तथा गुणवत्ता के मानको के अनुसार सिल्वर श्रेणी के लिये चयनित 02 निजी चिकित्सालय सम्मलित है)किया गया।

स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत  ने आयुष्मान योजना को लेकर मीडिया से भी संवाद किया 4 दर्जन से अधिक इस सत्र में सुझाव आए इस पर मंत्री जी ने कहा कि प्राप्त सुझावों पर विचार किया जाएगा ताकि योजना के और बेहतर परिणाम आ सके।

इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक विनोद चमोली ने प्रदेश में संचालित हो रहे हैं अस्पतालों को आसमान में इंटरनल करने की बात कही। कार्यक्रम में यूसीएफ के अध्यक्ष मातबर  सिंह रावत, अजीत चौधरी समेत कई लोग मौजूद थे। राज्य स्वास्थ्य प्राधिकर के अध्यक्ष डीके कोटिया, कार्यकारी अधिकारी अरूणेंद चौहान ने प्राधिकरण की गतिविधियों के साथ अटल आयुश्मान योजना को लेकर कई जानकारियों को साझा किया।

संचालन जे सी पांडे ने किया।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव