सामाजिक एवं आर्थिक न्याय देने वाला बजट -रामदास आठवले

आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में मिलेगी मजबूती 

 नई दिल्ली । रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास आठवले ने कहा कि केंद्र सरकार ने वर्ष 20 21- 22 में सामाजिक न्याय एवं आर्थिक न्याय देने वाला बजट प्रस्तुत किया है। किसान मजदूर दलित अल्पसंख्यक पिछड़े सहित सभी वर्गों की भलाई के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए गये है । कोरोना महामारी के बीच केंद्र सरकार ने बजट में  सभी वर्गों का ध्यान रखा है इसलिए मैं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्तमंत्री  निर्मला सीतारमण  को बधाई देता हूं ।

 राष्ट्रीय अध्यक्ष आठवले ने कहा कि अनुसूचित जाति के कल्याण के लिए मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम का पुनरुद्धार किया गया है जिसके अंतर्गत अनुसूचित जाति के चार करोड़ छात्रों को लाभ मिलेगा।इसके अलावा 758 एकलव्य आवासीय विद्यालय की स्थापना भी बड़ा कदम है ।

 श्री आठवले ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान को आगे बढ़ाने के लिए बजट में पूरा जोर दिया गया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने गरीब तबके का पूरा ध्यान रखते हुए आत्मनिर्भर पैकेज को आगे बढ़ाने का काम किया है । श्री आठवाले ने कहा कि सरकार की ओर से स्वास्थ्य के बजट को भी बढ़ाया गया है इसके अलावा किसानों के हित के लिए भी महत्वपूर्ण निर्णय लिए गये है ।

रामदास आठवले ने कहा कि  द्वारा प्रस्तुत बजट 2021-2022 अभुतपूर्व है, यह ग़रीब व किसानों को समर्पित विकासोन्मुखी बजट है। बजट में किए गए प्रावधानों से आत्मनिर्भर भारत बनाने के साथ देश को सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए गति मिलेगी।यह दृढ़ इच्छाशक्ति का स्वप्न दृष्टि बजट है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव