वृक्षारोपण अभियान-2020 के तहत यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में हुआ 1 लाख 12 हजार पौधों का रोपण 

 स्वच्छ पर्यावरण के लिए पौधारोपण सबसे अच्छा विकल्प : ठाकुर धीरेंद्र सिंह



नोएडा। जेवर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने कहा कि दूषित हो चुके पर्यावरण को संतुलित करने के लिए पौधारोपण सबसे अच्छा विकल्प है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं भी इस बात को अच्छी तरह समझते हैं। यही कारण है कि वृक्षारोपण अभियान-2020 की कमान खुद मुख्यमंत्री संभाल रहे हैं। इस अभियान के तहत प्रदेश में 25 करोड़ पौधों का रोपण करने का लक्ष्य तय किया गया है। इसके तहत रविवार को यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में एक लाख 12 हजार पौधे लगाए गए। 


ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रत्येक विधायक को पत्र प्रेषित भेजकर अधिक से अधिक पौधे लगाने के निर्देश दिए हैं। निश्चित तौर से प्राकृतिक संसाधनों के बेतहाशा दोहन और प्रदूषित हो चुके पर्यावरण को भविष्य के लिए संरक्षित करने में वृक्ष सबसे सुलभ विकल्प है। प्रत्येक नागरिक को अधिक से अधिक वृक्ष लगाकर प्रकृति व पर्यावरण के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन करना चाहिए।


उन्होंने बतायाकि अभियान के तहत यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र के सेक्टर 29, 32, 33 व फलैदा स्थित गौशाला में 01 लाख 12 हजार पौधों का रोपण किया गया। उन्होंने बताया कि इस वर्ष प्रदेश में 25 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उसी के सापेक्ष रविवार को गौतमबुद्धनगर में 08 लाख 50 हजार पौधे लगाए गए हैं। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण, परिवहन विभाग व वन विभाग के सहयोग से लगभग 01 लाख 12 हजार पौधे लगाए गए। 


विधायक ने बताया कि 50 हजार पौधे यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण, 60 हजार वन विभाग, 02 हजार परिवहन विभाग से उपलब्ध कराए गए थे। पर्यावरण को संरक्षित करने की इस मुहिम में 39वीं वाहिनी भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के असिस्टेंट कमांडेंट अरविन्द कश्यप व उनकी पूरी टीम ने सहयोग किया।


इस अभियान में यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक प्राधिकरण के हॉर्टिकल्चर के डिप्टी डायरेक्टर आनन्द मोहन सिंह, सहायक अभियंता संदीप जैन, श्याम सुन्दर बंसल, मैनेजर जेके शर्मा, जिला वन अधिकारी प्रमोद कुमार श्रीवास्तव, परिवहन विभाग के आरएम अशोक कुमार, एआरएम अनुराग यादव और लव कुमार आदि शामिल रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन