पुलिस कमिश्नरेट में वर्चुअल मीटिंग सिस्टम लागू, सीपी आलोक सिंह ने की शुरुआत

सुबह 11 से 12 बजे तक फरियादी भी अधिकारियों से कर सकेंगे वर्चुअल मीटिंग


वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी अब थाना प्रभारियों  से कर सकेंगे वर्चुअल मीटिंग


नोएडा। कोरोना संकट के बीच गौतमबुद्ध नगर के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने अफसरों के साथ ही आम लोगों को भी घर बैठे अपनी शिकायत और सुझाव साझा करने की सुविधा दी है। उन्होंने सोमवार को कमिश्नरेट में वर्चुअल मीटिंग सिस्टम की शुरुआत की गई है। इसके तहत फरियादी भी हर रोज सुबह 11 से दोपहर 12 बजे तक अपनी बात या शिकायत दर्ज करा सकते हैं।  


पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने बताया कि कोरोना संकट के कारण लोगों को आवागमन में दिक्कतें होती हैं। आने-आने में कोविड-19 के संक्रमण का खतरा बना रहता है। यह खतरा अफसरों के साथ ही आम आदमी को भी है। ऐसे में लोग अपनी शिकायतें और सुझाव साझा नहीं कर पा रहे थे। इस समस्या के समाधान के लिए सोमवार को गौतमबुद्ध नगर में वर्चुअल मीटिंग सिस्टम की शुरुआत की गई है। 


पुलिस आयुक्त ने बताया कि जनपद के थानों पर आने वाले फरियादी पूर्वाह्न 11 से दोपहर 12 बजे तक संबंधित अधिकारियों के समक्ष वर्चुअल मोड से मीटिंग कर अपनी बात या शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसके साथ ही स्कैनर की सहायता से दस्तावेज या शिकायत पत्र आदि भी ऑनलाइन जमा किए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ अधिकारी और थाना प्रभारी भी आपस मे वर्चुअल मीटिंग कर सकेंगे। 


पुलिस आयुक्त ने थाना फेस 3 और थाना रबूपुरा में आए फरियादियों से वर्चुअल जनसुनवाई भी की। इस मौके पर अपर पुलिस आयुक्त मुख्यालय श्रीपर्णा गांगुली, अपर पुलिस आयुक्त लॉ एंड आर्डर अखिलेश मीणा व जनपद में नियुक्त अन्य अधिकारी वर्चुअल मोड के माध्यम से मीटिंग में उपस्थित रहे।