कांग्रेस से अब अलग हुए यूपी के पूर्व मंत्री राज किशोर

बसपा का दामन थामने की अटकलें तेज 


गोरखपुर। पूर्वांचल के बड़े नेताओं में शुमार बस्ती मंडल में कांग्रेस के कद्दावर नेता और यूपी सरकार के पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। उनके साथ भाई बृज किशोर सिंह डिंपल और बेटे जिला पंचायत अध्यक्ष देवेंद्र प्रताप सिंह शानू ने भी कांग्रेस पार्टी से त्यागपत्र दे दिया है।


बताया जाता है कि देश की राजधानी दिल्ली में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती से मुलाकात के बाद गुरुवार को पूर्व मंत्री ने सपरिवार कांग्रेस को अलविदा कह दिया। पूर्व मंत्री ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि कांग्रेस पार्टी का न तो कोई सांगठनिक ढांचा है और न कोई फोरम। हर बात के लिए प्रियंका और राहुल गांधी के पास परिक्रमा करनी पड़ती है, जिससे वह कार्य करने में खुद को असहज महसूस कर रहे थे।


राजनीतिक गलियारे में पूर्व मंत्री राज किशोर सिंह के बसपा में शामिल होने की अटकलें तेज हैं। कहा जा रहा है कि राज किशोर सिंह के साथ उनके भाई और बेटे भी बसपा में शामिल होंगे। दिल्ली में बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ हुई मीटिंग में सब कुछ तय हो चुका है। बस अधिकारिक घोषणा शेष है। बसपा प्रमुख मायावती ने इसके अधिकृत घोषणा के लिए बस्ती की जिला इकाई को निर्देशित कर दिया है। अगले दो तीन दिन में इसकी अधिकारिक घोषणा भी हो जाएगी। बसपा में शामिल होने की चर्चाओं पर पूर्व मंत्री ने कहा चर्चा में दम होता है। फिलहाल हमने कांग्रेस पार्टी छोड़ दी है। इस्तीफा कांग्रेस की प्रभारी प्रियंका गांधी को भेज दिया है।