8 जनवरी को मजदूर किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ गौतम बुद्ध नगर होगा संपूर्ण बंद-  सीटू

 


नोएडा, केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के संयुक्त आह्वान पर 8 जनवरी 2020 को होने वाली हड़ताल को लेकर सीटू जिला कमेटी गौतम बुध नगर द्वारा जिले में व्यापक अभियान चलाया जा रहा है शनिवार 4 जनवरी 2020 को सीटू कार्यकर्ताओं की कई टीमों ने जनसंपर्क अभियान के तहत नुक्कड़ मीटिंग पर्चा वितरण माइक प्रचार किया जा रहा है नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा, भरत डेंजर, रामसागर, विनोद कुमार, राम स्वारथ, मदन प्रसाद, पूनम देवी ने कहा कि आज हम एक चुनौतीपूर्ण दौर से गुजर रहे हैं मेहनतकश आवाम का जीवन चौतरफा संकटों से घिर गया है तमाम संघर्षों और शहादत से हासिल किए गए श्रम कानूनों को चार कोड बिल लाकर मालिकों के पक्ष में बदल दिया गया है, श्रम कल्याण बोर्ड को दूसरे बोर्ड में मर्ज करके खत्म करने की तैयारी चल रही है, रेहडी पटरी फुटपाथ के पथ विक्रेताओं के उत्पीड़न को रोकने और उन्हें व्यवस्थित करने के लिए बनाए गए कानून को लागू नहीं करवाया जा रहा है, विभिन्न परियोजनाओं जैसे ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन, आई सी डी एस, मिड डे मील को एनजीओ को सौंप कर बर्बाद करने की तैयारी चल रही है, सार्वजनिक क्षेत्र को बेचा जा रहा है, किसानों को उनकी फसल का उचित दाम नहीं मिल रहा और भूमि अधिग्रहण कानून को कमजोर करने के प्रयास हो रहे हैं कुल मिलाकर शहर में मजदूर गांव में किसान परेशान है इसलिए 8 जनवरी 2020 को होने वाली हड़ताल को सभी वर्गों का व्यापक समर्थन मिल रहा है और यह हड़ताल ऐतिहासिक रूप से सफल हड़ताल होगी वक्ताओं ने हड़ताल में बढ़-चढ़कर मजदूरों किसानों आम लोगों से हिस्सा लेने की अपील किया।


वहीं हड़ताल के प्रचार के लिए संयुक्त स्तर से भी अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत इंटक, एच एम एस, सी आई टी यू, ऐक्टू, यूटीयूसी,टीयूसीआई, यू पी एल एफ, भारतीय लेबर यूनियन, नोएडा कामगार महासंघ आदि ट्रेड यूनियनों के कार्यकर्ताओं द्वारा घनीभूत तरीके से प्रचार कर रहे हैं। जिसका नेतृत्व ट्रेड यूनियन नेता उदय चंद्र झा, रामसागर, एसएन पांडे, ललित शर्मा, रितेश कुमार झा, डॉक्टर के पी ओझा, अमर सिंह, आरपी सिंह चौहान, सुधीर त्यागी, लता सिंह आदि कर रहे हैं हड़ताल की व्यापक होने की संभावनाओं के मद्देनजर जिलाधिकारी बीएन सिंह ने आज शाम 4:00 बजे के ट्रेड यूनियन नेताओं को वार्ता के लिए बुलाया है। जिसमें श्रम विभाग और प्रशासनिक अधिकारी भी हिस्सा लेंगे।