सरकार जनता की जनसमस्या की परवाह नहीं कर रही

नई दिल्ली : बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश व पूर्व सांसद सुश्री मायावती जी ने समस्त देशवासियों खासकर उन वीर जवानों व उनके परिवार वालों को दीपावली व भैयादूज की बहुत-बहुत बधाई व शुभकामनाएं दी है जो अपने कर्तव्य के प्रति पूरी निष्ठा से समर्पित हैं। 
आज अपने शुभकामना संदेश में उन्होंने कहा कि घर-परिवार की खुशी में जीवन की शान्ति निहित है और ऐसे में सर्वसमाज के अपने गरीब व जरूरतमन्द पड़ोसी के प्रति भी अपनी जिम्मेदारी को न भुलाया जाए तो यह बेहतर है।
सुश्री मायावती जी ने कहा कि आज दुनिया में हर जगह अशान्ति का माहौल है व लोग परेशान होकर आन्दोलित हंै। इस सम्बंध में संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एन्टोनियों गुटरस ने अभी-अभी जो बात कही है वह बहुत ही महत्वपूर्ण है व भारत जैसे विशाल जनसंख्या वाले देश के लिए तो बहुत मायने रखते हैं। 
ग्लोबलाइजेशन के साथ-साथ नई प्रौद्योगिकी के बेधड़क इस्तेमाल से समाज में असमानता लगातार बढ़ रही है और बी.एस.पी बार-बार अगाह करती रही हैं कि देश में जो भी विकास हो रहा है और उसका डंका पीट कर उसका राजनीतिक लाभ लेने का प्रयास किया जा रहा है उससे देश की लगभग 130 करोड़ आबादी में से अधिकतर गरीब, मेहनतकश व जरूरतमन्द लोगों का कोई खास हित व आपेक्षित भला नहीं हो पा रहा है बल्कि इससे अमीर लोग और ज्यादा धन्नासेठ बनते जा रहे हैं। यह देश व यहाँ की लगभग 130 करेाड़ आमजनता का असली विकास नहीं है और इसीलिए भारत गरीबी, बेरोजगारी आदि की भीषण समस्याओं से ग्रस्त लोगों का देश बन गया है। इसकी असली वजह यह है कि सरकारें लोगों की नहीं सुन रही हैं और मनमानी कर रही हैं जिसका परिणाम अभी सम्पन्न विधानसभा आमचुनाव में भी देखने को मिला है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख की बातों पर अगर देश की सरकारें भी ध्यान दे तो बेहतर है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन