गया शहर हिन्दू - मुस्लिम एकता का मिसाल बना






 

गया ।आज़ाद वेलफेयर सेंटर तथा राष्ट्रीय एकता क्लब ने मिल कर दुर्गा पूजा एवं दसहरा के शुभ अवसर पर भारत की परंपरा, संस्कार तथा सद्भावना को बनाये रखने के लिये पूजा पद्धति कर भारतीय समाज को एक संदेश देने की कोशिश की। बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व दुर्गा एवं दसहरा पूजा की तमाम देश वासियों को ढेर सारी शुभकामनाएं व बधाइयां दी।

हर साल की तरह इस साल भी आज़ाद वेलफेयर सेन्टर एवम् राष्ट्रीय एकता क्लब के तरफ से दुर्गा पूजा के अवसर पर प्रसाद वितरण का आयोजन मिर्ज़ा गालिब कॉलेज व्हाइट हाउस कम्पाउंड के बाहर संपन्न हुआ।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे शौकत निशात उर्फ नवाब अली (राष्ट्रीय उपाध्यक्ष युवा कांग्रेस वर्कर्स कमेटी सह बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर आज़ाद वेलफेयर सेन्टर), कमाल खान (अध्यक्ष आज़ाद वेलफेयर), डॉ कमर साहब ( सेक्रेटरी आज़ाद वेलफेयर सेन्टर), ईसराफुल हक़ ( प्रोजेक्ट डाइरेक्टर), परवेज आलम ( बोर्ड मेम्बर), डॉ नौशाद आलम, डॉ हारून रशीद, अन्नू खान, इंजीनियर टीपू खान, डॉ साजिद खान, शंकर कुमार , सुधीर कुमार , एकराम खान और अज़ाद वेलफेयर एवम् राष्ट्रीय एकता क्लब के तमाम मेंबर मौजूद थे , आपसी प्यार और भाई चारा का संदेश भी इस कार्यक्रम से दिया गया, जहां हर रोज़ ज़ात पात धर्म को लेकर हिंसा हो रही है और मौजूदा केंद्रीय सरकार द्वारा अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है वही एक तरफ मुसलमानो ने दुर्गा पूजा के अवसर पर प्रसाद वितरण करके आपसी सौहार्द और प्रेम का संदेश बिहार के गया ज़िला से दिया, और एक अपील भी की कि देश अवाम किसे के बहकावे मे न आए और सब लोग मिल जुल कर आगे बढ़े क्यू की जहां प्यार है वही ज़िन्दगी है और हर तेहवार को शांति पूर्वक ढंग से मनाए और हर ज़ात और धर्म के मानने वाले लोग को मान सम्मान दे क्योंकि हमारे मुल्क भारत की पहचान है!











 

 




 




 


 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

*सेक्टर १२२ में लेडीज़ क्लब ने धूमधाम से मनाई - डांडिया नाइट *

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव