राम मंदिर निधि समर्पण अभियान का समापन शनिवार को, बचे लोग शीघ्रता करें,: विहिप

 




मकर संक्रान्ति से प्रारंभ हुए 44 दिवासीय अभियान में जुटे देशभर के करोड़ों रामभक्त  

 

        नई दिल्ली। अयोध्या में श्री राम मंदिर के लिए दुनिया का सबसे बड़ा फंड कलेक्शन अभियान इस संत रविदास जयंती यानी शनिवार (27.02.210) को पूर्ण हो रहा है। विश्व हिंदू परिषद (VHP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता  विनोद बंसल ने सभी रामभक्तों से अपील की है कि वे जांच करें कि परिवार का कोई सदस्यरिश्तेदारमित्रपड़ोसी या कारोबारी सहयोगी इस पवित्र कार्य से बँचित तो नहीं  रहा। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारे सभी मदद करने वाले हाथसहायक कर्मचारीया वे लोग जो हमारे जीवन को आसान बनाते हैं (यथा ड्राइवरपागलप्रेसमैनसफाई कर्मीनाई, मोची आदि), को भी भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर बनने वाले भव्य-दिव्य मंदिर से जुड़ने का यह अनुपम व पवित्र अवसर मिला या नहीं!

        अभियान समापन की पूर्व संध्या पर दक्षिणी दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि 44 दिनों तक चले विश्व के सबसे बड़े अभियान - श्री राम मंदिर निधि समर्पण अभियान का शुभारंभ पिछली मकर संक्रांति अर्थात 15 जनवरी को हुआ था। देश की आधी आबादी को कवर करते हुए 5 लाख गांवोंकस्बों और शहरों में लाखों टीमें चौबीसों घंटे काम कर रही हैं। इन स्वयंसेवकों द्वारा प्राप्त स्वैच्छिक योगदानश्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के SBI / PNB / BOB खातों की स्थानीय शाखाओं में जमा किया जा रहा है। संबंधित रसीद / कूपन संख्या के साथ संग्रह विवरण को दैनिक रूप से एक एप के माध्यम से अपडेट किया जा रहा है। इस एप को ट्रस्ट द्वारा विशेष रूप से इसी उद्देश्य के लिए डिज़ाइन किया गया है। बंसल ने कहा कि स्वयंसेवक गाँव-गाँवघर-घर जाकर लोगों मिल कर उनका समर्पण करा रहे हैं ताकि कोई भी इससे बँचित ना रहे।

        उन्होंने कहा कि जो लोग किसी कारण बस इस पुण्य कार्य से बँचित रह गए हैं वे सभी हमारे स्थानीय अभियान दल/ उनके क्षेत्र के अभियन कार्यालयविहिप कार्यालय/पदाधिकारियों या अन्य रामभक्तों से संपर्क कर सकते हैं ताकि वे अपना योगदान देकर रसीद/कूपन प्राप्त करे सकें। अभियान का समापन तय समय अर्थात संत रविदास जयंती यानी 27 फरवरी सनिवार को हो रहा है। लोग हमारी वेबसाइट www.vhp.org या @VHPDigital नामक ट्विटर/फेसबुक/इंस्टाग्राम पर भी संपर्क कर सकते हैं।