संकट से उबरने को 30 दिन बाजार खोलने की अनुमति दे प्रशासन : पंडित आशु

पश्चिम उप्र. संयुक्त व्यापार मंडल ने सीएम के नाम भेजा ज्ञापन


मेरठ। शहर में रोस्टर व्यवस्था खत्म कर बाजारों को पूर्ण रूप से खुलवाने की मांग को लेकर पश्चिम उप्र. संयुक्त व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष पंडित आशु शर्मा के नेतृत्व में संगठन के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। ज्ञापन में शहर के बाजार को पूरे माह पूर्ण रूप से खोलने की मांग की है। 


पंडित आशु शर्मा ने कहा कि पिछले चार माह से लॉकडाउन के चलते व्यापारियों की स्थिति बहुत दयनीय हो गई है। अब अनलॉक में भी जिला प्रशासन व्यापारियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है। महीने में मात्र 12 दिन ही व्यापारी अपनी दुकान खोल पा रहा है। जबकि तमाम देनदारी इस समय व्यापारी समाज के ऊपर है। बिजली का बिल न देने पर बिजली विभाग कनेक्शन काट रहा है। चार महीने का बिजली का बिल बकाया है। बैंक ईएमआई मांग रहा है। स्कूल वाले फीस मांग रहे हैं। जो व्यापारी किराये की दुकानें चलाते हैं, उन्हें 12 दिन खुलने पर भी पूरे महीने का किराया दुकान मालिक को देना पड़ता है। लेबर को पूरा वेतन देना पड़ता है। कुक और रेस्टोरेंट चलाने वालों की भी स्थिति बहुत ही दयनीय है। एक दिन दुकान बंद होगी, एक दिन खुलेगी की नीति से उनका सबसे ज्यादा नुकसान हो रहा है। उन्होंने रोस्टर व्यवस्था को समाप्त कर 30 दिन दुकानें खोलने की परमिशन देने की मांग की है। 


प्रदर्शन के दौरान सरदार मनजीत सिंह कोछड़, बुंदू खां अंसारी, धर्मेंद्र मलिक, विजय ओबरॉय, गुलशन मेहरा, संजु त्यागी, नीरज कौशिक, चंद्रप्रकाश शर्मा, संजय शर्मा, हाजी शारिक, मंशुर भाई विजय राठी, हाजी अब्बास, हाजी तुफैल, रचित गुलाठी, लोकेश चंद्रा, अजय गुप्ता, सचिन अग्रवाल, सन्नी मेहरा, राजेश शर्मा, अरविंद शर्मा, विनेश राना, अभि जैन, उवैश, आहुजा, श्याम परूथी और बॉबी भाई आदि उपस्थित रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के इलाज में कारगर है ‘आयुष-64’

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस: भारतीय विज्ञान की प्रगति का उत्सव

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए हुआ " श्रीमती माधुरी सक्सेना कंप्यूटर शिक्षण केंद्र" का उद्घाटन