दो साल के मासूम को अगवा करने वाले चचेरे भाई समेत दो गिरफ्तार

 - पुलिस आयुक्त ने किया पुलिस टीम को 50 हजार रुपये का इनाम देने का एलान


नोएडा। थाना सेक्टर-49 की पुलिस ने दो साल के मासूम को अगवा करने वाले चचेरे भाई समेत दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से अपहरण में इस्तेमाल मोबाइल फोन बरामद किया गया है। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने इस घटना का खुलासा करने वाली टीम को 50 हजार रुपये का इनाम देने का एलान किया है।


सेक्टर-6 स्थित डीसीपी ऑफिस में गुरुवार को हुई प्रेस कान्फ्रेंस में अपर पुलिस आयुक्त मुख्यालय श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि 28 जुलाई को सेक्टर-73 के ग्राम सर्फाबाद निवासी संदीप यादव पुत्र महावीर यादव ने पुलिस को सूचना दी थी कि घर के बाहर खेल रहे उनके दो वर्षीय बेटे का अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया है। अपहरणकर्ता ने उनके मोबाइल फोन पर बताया कि उनके बेटे का अपहरण कर लिया गया है। ज्यादा होशियारी की तो उसे काट कर फेंक देंगे। इस सूचना पर थाना सेक्टर-49 की पुलिस ने तत्परता दिखाई और अगवा बच्चे की तलाश शुरू की। लगभग एक घंटे के बाद बच्चे को सेक्टर-72 के पार्क से ढंूढकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।


श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि बच्चा तो मिल गया, लेकिन अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। पुलिस ने आखिर दो दिनों के भीतर ही दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि पकड़े गए अभियुक्तों में सर्फाबाद गांव का रहने वाला पीयूष यादव पुत्र बिजेन्द्र यादव और बदायूं निवासी जुबेर पुत्र वकील शामिल है। जुबेर यहां सेक्टर-39 क्षेत्र के सदरपुर में रहता है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार पीयूष यादव अगवा बच्चे का चचेरा भाई है। पूछताछ के दौरान पीयूष यादव ने बताया कि उसने अपने दोस्त जुबेर और एक अन्य के साथ मिलकर करीब 10 दिन पहले अपने दो साल के चचरे भाई के अपहरण की योजना बनाई थी। अपने चाचा संदीप यादव के घर के बाहर से बच्चे को उठाकर वह मोटर साइकिल से गांव के शिव मंदिर पर ले गया और वहां उसे जुबेर व एक अन्य दोस्त के हवाले कर दिया। बच्चे को सेक्टर-45 के सदरपुर गांव में अपने दोस्त के मकान में रखा था। पुलिस सक्रियता से वे लोग घबरा गए थे। इसलिए बच्चे को सेक्टर-72 पार्क में छोड़कर भाग गये थे। पुलिस अभी एक फरार अभियुक्त की तलाश कर रही है।दो साल के मासूम को अगवा करने वाले चचेरे भाई समेत दो गिरफ्तार - पुलिस आयुक्त ने किया पुलिस टीम को 50 हजार रुपये का इनाम देने का एलान नोएडा। थाना सेक्टर-49 की पुलिस ने दो साल के मासूम को अगवा करने वाले चचेरे भाई समेत दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से अपहरण में इस्तेमाल मोबाइल फोन बरामद किया गया है। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने इस घटना का खुलासा करने वाली टीम को 50 हजार रुपये का इनाम देने का एलान किया है।


सेक्टर-6 स्थित डीसीपी ऑफिस में गुरुवार को हुई प्रेस कान्फ्रेंस में अपर पुलिस आयुक्त मुख्यालय श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि 28 जुलाई को सेक्टर-73 के ग्राम सर्फाबाद निवासी संदीप यादव पुत्र महावीर यादव ने पुलिस को सूचना दी थी कि घर के बाहर खेल रहे उनके दो वर्षीय बेटे का अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया है। अपहरणकर्ता ने उनके मोबाइल फोन पर बताया कि उनके बेटे का अपहरण कर लिया गया है। ज्यादा होशियारी की तो उसे काट कर फेंक देंगे। इस सूचना पर थाना सेक्टर-49 की पुलिस ने तत्परता दिखाई और अगवा बच्चे की तलाश शुरू की। लगभग एक घंटे के बाद बच्चे को सेक्टर-72 के पार्क से ढंूढकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।


श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि बच्चा तो मिल गया, लेकिन अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी। पुलिस ने आखिर दो दिनों के भीतर ही दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि पकड़े गए अभियुक्तों में सर्फाबाद गांव का रहने वाला पीयूष यादव पुत्र बिजेन्द्र यादव और बदायूं निवासी जुबेर पुत्र वकील शामिल है। जुबेर यहां सेक्टर-39 क्षेत्र के सदरपुर में रहता है। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार पीयूष यादव अगवा बच्चे का चचेरा भाई है। पूछताछ के दौरान पीयूष यादव ने बताया कि उसने अपने दोस्त जुबेर और एक अन्य के साथ मिलकर करीब 10 दिन पहले अपने दो साल के चचरे भाई के अपहरण की योजना बनाई थी। अपने चाचा संदीप यादव के घर के बाहर से बच्चे को उठाकर वह मोटर साइकिल से गांव के शिव मंदिर पर ले गया और वहां उसे जुबेर व एक अन्य दोस्त के हवाले कर दिया। बच्चे को सेक्टर-45 के सदरपुर गांव में अपने दोस्त के मकान में रखा था। पुलिस सक्रियता से वे लोग घबरा गए थे। इसलिए बच्चे को सेक्टर-72 पार्क में छोड़कर भाग गये थे। पुलिस अभी एक फरार अभियुक्त की तलाश कर रही है।